बिहार में ठनके से 102 लोगों की मौत, 28 जून तक वज्रपात का खतरा

सूबे बिहार के 25 जिलों में गुरुवार को बारिश के दौरान ठनका गिरने से 102 लोगों की जहां मौत हो गई वहीं 3 दर्जन से अधिक लोग घायल हुए हैं जिसमें खेती किसानी से जुड़े ज्यादातर लोग शामिल हैं। इस प्राकृतिक आपदा से जूझ रहे परिवार के परिजनों के प्रति सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शोक जताया है। सीएम ने सभी मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये किए गए वादानुसार देने का निर्देश दिया है।

बता दें कि गोपालगंज से लेकर अररिया तक कुल 25 जिलों में कहां कितने लोगों की मौत हुई उसकी विस्तृत जानकारी अखबारों के माध्यम से भी लोगों तक पहुंच चुकी है।

यह भी जानिए कि अगले 3 दिनों के लिए मौसम विभाग ने बिहार, उत्तर प्रदेश, असम, मेघालय, पश्चिम बंगाल, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम के कुछ इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है।

चलते-चलते यह भी बता दें कि केवल बिहार के दो दर्जन जिलों में भारी बारिश के साथ ठनका गिरने से 50 से अधिक लोग झुलसकर घायल भी हुए हैं जिसमें कई लोगों की हालत गंभीर है। सबसे अधिक लोगों की जान गोपालगंज जिले में गई है जहां ठनका गिरने से एक दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो गई है। मुख्यमंत्री ने बार-बार यही कहा कि विपदा की घड़ी में मैं प्रभावित परिवारों के साथ हूं। सभी सतर्क रहें सुरक्षित रहें।

सम्बंधित खबरें