Tag Archives: Md.Sohail

डॉ.मधेपुरी के संग ‘तिरंगा’ हुआ मधेपुरा

भूपेन्द्र चौक पर डॉ.मधेपुरी ने शांति आदर्श स्कूल के बच्चे-बच्चियों एवं गणमान्यों सहित डॉ.आलोक, सतीशचन्द्र, आनंद आदि की उपस्थिति में राष्ट्रीय तिरंगा फहराने के बाद जन-गण-मन……… के धुन के दरमियान तिरंगे को सलामी दिया और उपस्थित जनों से यही कहा-

बच्चों ! यह 71वां स्वतंत्रता दिवस है | 70 बार यह तिरंगा लाल किले के प्राचीर से 15 अगस्त को फहराया गया | मात्र एक बार पंडित नेहरू द्वारा 16 अगस्त को 1947 में इसे लाल किले से फहराया गया था | वह भी बिना राष्ट्रगान का ही | वर्ष 1950 से ध्वजोत्तोलन के बाद राष्ट्रगान गाया जाने लगा है |

डॉ.मधेपुरी ने बच्चों से यह भी कहा कि अपने अंदर की बुराइयों को भगाने में ऊर्जा नहीं लगाना बल्कि अच्छाइयों को अन्दर लाने में  प्रयत्नशील रहोगे तो बुराइयाँ स्वयं बाहर हो जाएंगी | जैसे कमरे में फैले अंधकार को बाहर निकालने में थक जाओगे फिर भी बाहर नहीं होगा अंधेरा | यदि तुम एक दीप उस कमरे के अंदर जला लेते हो तो अंधेरा स्वतः बाहर हो जायेगा……….! याद रखना अंधेरे को कोसने से बेहतर है- एक दीप जलाना |

यह भी बता दें कि सबेरे से स्कूली बच्चों द्वारा मुख्य सड़कों से लेकर शहर की गलियों में भी तिरंगा लिए गोखले-तिलक-गांधी-सुभाष से लेकर नेहरू-लोहिया-हामीद-जयप्रकाश……. के साथ-साथ भूपेन्द्र-भीम-कर्पूरी सरीखे स्वतंत्रता सेनानियों की जयकारा लगाते देखे गये |

Dynamic DM Md.Sohail (IAS), SP Vikas Kumar (IPS), ASP Rajesh Kumar , Samajsevi Dr.Bhupendra Madhepuri and other officers along with girl students uniformed as Bharat Mata celebrating 71st Independence Day on 15th August , 2017 at BN Mandal Stadium , Madhepura .
Dynamic DM Md.Sohail (IAS), SP Vikas Kumar (IPS), ASP Rajesh Kumar , Samajsevi Dr.Bhupendra Madhepuri and other officers along with girl students uniformed as Bharat Mata celebrating 71st Independence Day on 15th August , 2017 at BN Mandal Stadium , Madhepura .

इस अवसर पर बी.एन.मंडल स्टेडियम में समाजसेवी डॉ.मधेपुरी, स्वतंत्रता सेनानी श्री कृष्णान्द यादव सहित शहर के गणमान्यों एवं स्कूली बच्चों के बीच जिले के डायनेमिक डीएम मो.सोहैल (I.A.S.), एसपी विकास कुमार (IPS) ने तिरंगे को सलामी दी और जिले के विकास हेतु रेल फैक्ट्री……. मेडिकल – इंजीनियरिंग कॉलेज…….. आदि पर विस्तार से चर्चा करते हुए युवाओं को जगाने हेतु संदेश दिया |

भू.ना.मंडल विश्वविद्यालय के नये परिसर में एक जगह तिरंगा लहराया प्रतिकुलपति ने और पुराने परिसर में कुलपति डॉ.ए.के.राय ने तथा शिक्षक संघ के महासचिव डॉ.अशोक कुमार ने, अवकाश प्राप्त शिक्षक कल्याण संघ के महासचिव डॉ.एस.एन.यादव ने………| नगर परिषद की अध्यक्षा श्रीमती सुधा यादव और जिला परिषद की अध्यक्षा श्रीमती मंजू देवी ने तिरंगे को सलामी दी |

चारो ओर बच्चों एवं बच्चियों ने आजादी की झाँकियाँ, गीत, नाटक एवं जन्माष्टमी के अवसर पर कृष्ण लीला भी करते देखे गये | सांस्कृतिक कार्यक्रम करना तो हमारी संस्कृति का अंग बन गया है |

सम्बंधित खबरें


इतिहास का स्मरण हमें ताकत देता है !

मधेपुरा में जिला से लेकर प्रखंड स्तर तक ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के 75वें वर्षगांठ को उत्साहपूर्वक मनाया गया | सबेरे प्रभात फेरी निकाली गई जिसमें स्कूली बच्चों ने जमकर भाग लिया | दिन के 10:00 बजे से स्थानीय भूपेन्द्र कला भवन में चित्रकला प्रदर्शनी का वृहत आयोजन किया गया | अपराह्न 1:00 बजे से “भारत छोड़ो आंदोलन” पर स्कूली बच्चों द्वारा व्याख्यान एवं निबंध लेखन प्रतियोगिता आयोजित की गई | शाम में वहीं पर विभिन्न संगीत विद्यालयों एवं स्थानीय कलाकारों द्वारा देर रात तक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का एक-से-एक बेहतरीन प्रदर्शन किया जाता रहा | अंत में कार्यक्रमों में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को- डीडीसी मिथिलेश कुमार की अध्यक्षता में तैयार किये गये प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को समाजसेवी डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी,  एस.डी.एम.संजय कुमार निराला, बीडीओ  दिवाकर कुमार आदि द्वारा पुरस्कृत किया गया |

बता दें कि इस अवसर पर स्वच्छता अभियान के तहत जिला मुख्यालय, अनुमंडल मुख्यालय सहित प्रखंड मुख्यालय के कार्यालय परिसरों की जमकर सफाई की गई |

Educationist Dr.Bhupendra Madhepuri, SDM SANJAY KUMAR Nirala, DDC Mithilesh Kumar and Students Celebrating 75th anniversary of Quit India Movement at Bhupendra Kala Bhawan, Madhepura.
Educationist Dr.Bhupendra Madhepuri, SDM Sanjay Kumar Nirala, DDC Mithilesh Kumar and Students Celebrating 75th anniversary of Quit India Movement at Bhupendra Kala Bhawan, Madhepura.

यह भी बता दें कि मध्यान काल में अगस्त क्रांति दिवस (9 अगस्त) मनाने हेतु अनुमंडल कार्यालय परिसर में जिले के डायनेमिक डीएम मो.सोहैल का आगमन हुआ- जहां पर डीडीसी, एस.डी.एम. संजय कुमार निराला, एलआरडीसी रवि शंकर शर्मा, बीडीओ  दिवाकर कुमार सहित समाजसेवी-साहित्यकार भूपेन्द्र मधेपुरी ने इस अवसर पर आयोजित विचार गोष्ठी में डीएम मो.सोहैल का स्वागत किया |

आरम्भ में डीएम, डीडीसी, एसडीएम, एलआरडीसी, बीडीओ, सहित डॉ.मधेपुरी एवं गणमान्यों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद, लाल बहादुर शास्त्री आदि के तस्वीरों पर माल्यार्पण व पुष्पांजलि किया |

School Kids celebrating ' Bharat Chhoro Aandolan' on 9th. August at Bhupendra Kala Bhawan,Madhepura.
School Kids celebrating ‘ Bharat Chhoro Aandolan’ on 9th. August at Bhupendra Kala Bhawan, Madhepura .

जहाँ गोष्ठी को संबोधित करते हुए डायनेमिक डीएम ने जीर्ण-शीर्ण ट्रेजरी भवन को सुन्दर संग्रहालय बनाने की बात कही वहीँ डीडीसी मिथिलेश कुमार ने एसडीएम संजय कुमार निराला से उसे जिला परिषद को ट्रांसफर करने की चर्चा भी की तथा स्वच्छता के बाबत संकल्प का पाठ भी किया और लोगों ने उसे दोहराया भी |

बीच में गोष्ठी को संबोधित करते हुए समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.मधेपुरी ने अपने संबोधन में 1942 की अगस्त क्रान्ति की चर्चा करते हुए यही कहा-

“जब 8 अगस्त, 1942 की रात को बम्बई में आयोजित भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सम्मेलन में ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ का प्रस्ताव पास करने के बाद ‘करो या मरो’ का नारा बुलंद किया गया, तब कुछ ही घंटे बाद नेताओं की धर-पकड़ शुरू हो गयी | वह व्यक्तिगत आंदोलन था | महात्मा गांधी ने उद्घोष किया था कि हर कोई स्वयं सेना भी है और सेनापति भी | तभी तो सरकारी आंकड़े के अनुसार 60 बार सेना को बुलाना पड़ा था ; 60000 आंदोलनकारी गिरफ्तार हुए थे और भारत में 940 लोग गोलियों के शिकार हुए थे…….. सच्चाई कई गुणा ज्यादा थी……… तत्कालीन वायसराय लिनलिथगो ने चर्चिल को लिखा भी था……. 1857 की क्रान्ति थी और यह 1942 की जनक्रांति है |”     

अंत में डायनेमिक डीएम मो.सोहैल (IAS)  ने जोरदार शब्दों में उपस्थित जनों से यही कहा- “हम सब मिलकर संकल्प लें- भ्रष्टाचार मुक्त भारत का स्वच्छ भारत का, गरीबी मुक्त भारत का, जातिमुक्त भारत का, संप्रदायवाद मुक्त भारत का……… और नए भारत के निर्माण के अपने इन संकल्पों की सिद्धि के लिए हम सब मन, वचन और कर्म से सदा जुटे रहेंगे तब तक जब तक बिहार और हमारा राष्ट्र विकसित नहीं हो जाय |”

सम्बंधित खबरें


सीएम ने मधेपुरा डीएम को उनकी अनूठी पहल के लिए किया सम्मानित

बिहार और बिहार की सीमा के पार के लोगों द्वारा विकास पुरुष से सम्मानित मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना के ज्ञान भवन में आयोजित विश्व युवा कौशल दिवस कार्यक्रम के अवसर पर कौशल विकास कार्यक्रम में बेहतर प्रदर्शन करनेवाले सात जिलाधिकारियों एवं कुशल युवा कार्यक्रम के 10 सर्वोत्तम प्रशिक्षण केंद्रों को सम्मानित किया | मौके पर प्रशिक्षण में अव्वल रहे छात्र-छात्राओं को भी पुरस्कृत किया गया |

जहां मधेपुरा के डायनेमिक डीएम मो.सोहैल ने कुशल युवा प्रशिक्षित छात्रों के लिए नये रोजगार के विकल्प के तौर पर जीएसटी ऑपरेटर्स बनाने की राह तैयार की है वहीं नीतीश सरकार ने इस स्कीम को मॉडल के रूप में पूरे सूबे में लागू करने का निर्णय भी ले लिया है |

बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विश्व कौशल विकास दिवस पर बिहार के 38 में से जिन सात जिले के जिलाधिकारियों को सम्मानित किया, वे जिले हैं- मधेपुरा, सहरसा, कटिहार, बेगूसराय, लखीसराय, बक्सर और मधुबनी तथा सम्मानित होने वाले डीएम क्रमशः- मो.सोहैल, विनोद सिंह गुंजियाल, मिथिलेश मिश्रा, मो.नौशाद यूसुफ, सुनील कुमार, रमन कुमार एवं शीर्षत कपिल अशोक |

हाँ ! इसके अतिरिक्त इस कार्यक्रम की देख-रेख करनेवाली कंपनी एम.के.सी.एल. के सीईओ विवेक सावंत, दीघा घाट ITI के उप-प्राचार्य के रूप में राहुल कुमार तथा घोघरडीहा के सर्वोत्तम प्राचार्य के रूप में अतुल रंजन को भी विकास पुरुष नीतीश कुमार के हाथों सम्मानित होने का अवसर प्राप्त हुआ |

यह भी जानिए की जन निजी सहभागिता के तहत चलाये जा रहे विभिन्न औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में सर्वश्रेष्ठ मुंगेर संस्थान को मुख्यमंत्री द्वारा एक लाख का पुरस्कार दिया गया | साथ ही विज्ञान भवन में जो प्रदर्शनी लगाई गई उसे भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने सहयोगी मंत्रियों राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह (योजना विकास मंत्री), मंजू वर्मा (समाज कल्याण मंत्री), महेश्वर हजारी (नगर विकास मंत्री) एवं विजय प्रकाश (श्रम संसाधन मंत्री) आदि के साथ घूम-घूमकर देखा और सराहना करते हुए अपना-अपना विचार व्यक्त किया |

इसी क्रम में श्रम संसाधन सचिव दीपक कुमार ने भावोद्गार व्यक्त करते हुए यही कहा कि मात्र 7 महीने में  सूबे में कौशल विकास केंद्रों की संख्या 48 से बढ़कर 1136 हो गई है और नामांकित प्रशिक्षणार्थियों की संख्या 1978 से बढ़कर एक लाख तेरह हज़ार हो गई है | अब तक मात्र 40 प्रखंड ऐसे बचे हैं जहां कौशल विकास केंद्र अपना दस्तक नहीं दे पाया है |

अंत में यह कि राज्य सरकार द्वारा डीएम को सम्मानित किये जाने पर शहरवासियों ने खुशी जतायी है | समाजसेवी डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी एवं शिक्षाविद प्रो.श्यामल किशोर यादव ने विभिन्न क्षेत्रों में जिले के विकास के लिए डीएम मो.सोहैल के कार्यों की सराहना की और शुभकामनाएं दी |

सम्बंधित खबरें


छात्रों एवं शिक्षकों के अच्छे दिन आने वाले हैं……!!

मधेपुरा को ऊंचाई देने के लिए शराबबंदी और पूर्ण नशाबंदी के समर्थन के तर्ज पर मैट्रिक और इंटर की परीक्षाओं में कदाचार और नकल पर ब्रेक लगाने हेतु साहसिक कदम उठाने वाले मधेपुरा के पूर्व जिला पदाधिकारी श्री गोपाल मीणा (भा.प्र.से.) एवं वर्तमान डायनेमिक डी.एम. मो.सोहैल (भा.प्र.से.) को मधेपुरा सदा याद करेगा |

यह भी बता दें कि मधेपुरा की यह खासियत है कि यहां के लोग अच्छे काम को और समय-समय पर अच्छे पदाधिकारियों को हमेशा याद करते हैं | साथ ही यह भी जानिए कि जहां एक ओर पूर्व डीएम श्री गोपाल मीणा ने मैट्रिक और इंटर के परीक्षार्थियों द्वारा किये जा रहे कदाचार पर ब्रेक लगाया था तो वहीं दूसरी ओर अपने गुरुओं को बुला-बुलाकर यहां की अगणित प्रतिभाओं को पढ़ने और आगे बढ़ने के लिए तरह-तरह के टिप्सों के साथ 20-20 हजार रु. तक की प्रतियोगी पुस्तकें बी.एन.मंडल विश्वविद्यालय के ऑडिटोरियम में मुहैया भी कराई थी |

और यह भी कि जहां वर्तमान डी.एम. मो.सोहैल की पूरी टीम द्वारा उन्हीं परीक्षार्थियों पर कदाचार के मामले में सिर हिलाने पर भी पाबंदी लगा दी गयी तो दूसरी ओर उनकी पढ़ने की सुविधाएं मुहैया कराने हेतु डी.एम. मो.सोहैल ने जीर्ण-शीर्ण व मृतप्राय जिला पुस्तकालय को बुक-सेल्फों, ढेर सारी कुर्सियां, लंबे-लंबे टेबुलों तथा बिजली पंखों से सुसज्जित करने के साथ-साथ पांच प्रकार के अखबार व 10 प्रकार की पत्रिकाओं के अतिरिक्त संपूर्ण पुस्तकालय कक्ष को एयर कंडीशन करने के निर्देश एनडीसी मुकेश कुमार की टीम को दी और यह भी कहा कि अप्रैल के प्रथम सप्ताह तक हर सूरत में सारे कार्यों को पूरा कर लिया जाय |

लगे हाथ छात्रहित में जिला पुस्तकालय को सदा जीवित रखने हेतु डी.एम.  मो.सोहैल ने पांच सदस्यीय संचालन समिति भी गठित कर दी जिसके अध्यक्ष बनाये गये- समाजसेवी-शिक्षाविद् डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी |

बता दें कि डीएम मो.सोहैल ने मौजूद पुस्तकों के अलावे मैट्रिक व इंटर के कोर्स की पुस्तकों के क्रय की बातें कहीं और साथ ही पुस्तकों के सिल-सिलेवार रख-रखाव एवं अत्याधुनिक तरीके से कंप्यूटरीकृत एकाउन्ट रखने हेतु संचालन समिति के सचिव के रूप में कंप्यूटर में दक्षताप्राप्त संदीप शांडिल्य के साथ-साथ सदस्य के रूप में प्रो.श्यामल किशोर यादव, पत्रकारिता जगत से प्रो.प्रदीप कुमार झा एवं जिला शिक्षा पदाधिकारी शिवशंकर राय का मनोनयन किया |

और आगे प्रशासनिक कार्य-व्यस्ताऔं के बावजूद मैट्रिक-इंटर उत्तीर्ण छात्रों को रोजगारों से जोड़ने के लिए समिति के सदस्यों के साथ डी.एम. मो.सोहैल ने दूसरे ही दिन रासबिहारी उच्च विद्यालय में 50 कंप्यूटर वाले मृतप्राय “कंप्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र” पर पहुंचकर उसे जीवित करने हेतु ITI, बी.पी.मंडल इंजीनियरिंग कॉलेज, एवं अन्य कई संस्थानों के प्रधानों से लगातार मोबाइल से संपर्क किया | इस अवसर पर लगभग 10 वर्षों से कोमा में पड़े इस “कंप्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र” को जीवित करने के उपायों के लिए जिस प्रकार की व्यग्रता डी.एम मो.सोहैल के अंदर महसूस की गई- उसे समिति के सदस्यों के साथ-साथ स्कूल की प्राचार्या श्रीमती रंजना झा की टीम कभी नहीं भुला पायेगी |

सम्बंधित खबरें


मधेपुरा अब विकास की नई इबारत लिखने लगा है

जिला स्थापना के दिन व्यस्त कार्यक्रमों के बावजूद डायनेमिक डी.एम. मो.सोहैल ने नीतीश सरकार के सात निश्चयों में से- ‘अवसर बढे, आगे बढ़ें’ के तहत जिले में रोजगारोन्मुखी छह शिक्षण संस्थानों के निर्माण हेतु समय निकालकर टीम के साथ स्थल निरीक्षण हेतु चल दिये | जिलाधिकारी की टीम में सिविल सर्जन डॉ.गदाधर पाण्डेय सहित जिला शिक्षा पदाधिकारी बद्री नारायण मंडल, अंचलाधिकारी मिथिलेश कुमार एवं भवन निर्माण के अभियंता मधुसूदन कुमार कर्ण भी मौजूद थे|

निरीक्षोपरान्त डी.एम. मो.सोहैल ने मधेपुरा अबतक को बताया कि जिले में दो आई.टी.आई., एक महिला आई.टी.आई., एक एएनएम स्कूल, एक जेएनएम स्कूल और एक पारा मेडिकल प्रशिक्षण संस्थान यानी कुल छह संस्थान खोले जाने हैं | उन्होंने यह भी बताया कि पड़रिया गाँव में केशव कन्या गर्ल्स स्कूल की 22 बीघे जमीन के कुछ हिस्से में एएनएम कॉलेज, जीएनएम (एग्रेड नर्स) कॉलेज तथा पारा मेडिकल कॉलेज खुलेगा|

इसके अलावे उन्होंने कहा कि धुरगाँव पंचायत के नरसिंहबाग़ गाँव में 4 एकड़ 23डी. सरकारी भूमि पर महिला एवं पुरुष आईटीआई के लिए दो मंजिला भवन के साथ-साथ छात्राओं का हॉस्टल भी बनेगा- जिसके लिए सरकारी स्वीकृति भी मिल चुकी है| डी.एम. मो.सोहैल ने बताया कि एक साल के अंतर्गत दोनों जगह भवन निर्माण का कार्य पूरा का लिया जायगा|

विकास के लिए चौकस रहने वाले डी.एम. मो.सोहैल के अनुसार चौसा में बनेगा आईटीआई संस्थान और मधेपुरा प्रखंड के मछबखरा गाँव में रासबिहारी उच्च विद्यालय की 29बीघे जमीन पर उक्त विद्यालय के नाम का सरकारी कॉलेज भवन बनाये जाने हेतु प्रस्ताव बनाने के लिए डी.ई.ओ. बद्री नारायण मंडल को कहा गया है |

सम्बंधित खबरें