पृष्ठ : मधेपुरा अबतक

हिन्दू शादी केरल की एक मस्जिद में हुई संपन्न और बनी मिसाल

एक तरफ बिहार में 19 जनवरी को बिहार के सीएम नीतीश कुमार के जल-जीवन-हरियाली मिशन को वैश्विक आंदोलन बनाने हेतु 18000 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनाकर मिसाल कायम की जा रही थी वहीं दूसरी तरफ उसी दिन उसी समय (11:30 से 12 बजे के बीच) केरल की एक मस्जिद में हिन्दू शादी संपन्न हुई और बनी मिसाल। मस्जिद में अजान की जगह गूंज रही थी हिन्दू लड़की की शादी की शहनाई।

बता दें कि चेरुवल्ली मुस्लिम जमात मस्जिद परिसर में शरतशशि और अंजू की हिन्दू रीति-रिवाज से संपन्न हुई शादी का जिम्मा उठाया था मुस्लिम जमात समिति ने। समिति के सचिव नजीमुद्दीन ने मीडिया को यह जानकारी दी-

“22 वर्षीय दुल्हन अंजू के पिता अशोकन का एक वर्ष पूर्व निधन हो गया था… परिवार इतना सक्षम नहीं था कि वह शादी का खर्च उठा सकता। समिति ने 10 तोला सोना तथा दो लाख रुपये के उपहार देने हेतु प्रस्ताव पारित किया था और एक हजार लोगों के भोजन की व्यवस्था भी की थी।”

चलते-चलते यह भी बता दें कि शरत-अंजू की शादी का कार्ड सोशल मीडिया पर सर्वाधिक वायरल हुआ। शादी के कार्ड में जमात समिति ने यह अंकित करवा दिया था कि वह परिवार के अनुरोध पर मस्जिद पर हिन्दू शादी का आयोजन कर रहा है तथा इस अवसर पर सभी समुदाय के लोगों को विवाहोत्सव में भाग लेने के लिए आमंत्रित भी किया गया था। धार्मिक भाईचारे की अद्वितीय मिसाल।

सम्बंधित खबरें


आज भारत अपना 71वाँ गणतंत्र दिवस मना रहा है और डॉ.मधेपुरी मधेपुरा के गणतंत्र दिवस मनाने में मशगूल

बाबा साहब भीमराव अंबेडकर द्वारा निर्मित भारतीय संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया। 2 वर्ष 11 महीने 18 दिन में भारतीय संविधान सभा द्वारा तैयार किया गया भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है। हमें इस बात का गौरव है कि इस धरती का एक सपूत चतरा के कमलेश्वरी प्रसाद यादव भी संविधान सभा के सदस्य रहे हैं।

समाजसेवी डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी ने महान स्वतंत्रता सेनानी भूपेन्द्र नारायण मंडल के नाम वाले भूपेन्द्र चौक पर राष्ट्रीय तिरंगा फहराने के बाद उपस्थित लोगों से कहा कि भारत का संविधान ही भारत के सभी जातियों, धर्मों एवं वर्गों के लोगों को एक-दूसरे से जोड़े रखता है तथा उसकी सुरक्षा में खड़ा रहता है। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी यानि भारतीय गणतंत्र दिवस भारत का एक प्रमुख राष्ट्रीय त्यौहार है जिसके माध्यम से भारत की विविधता में एकता की झलक दिखती रही है।

Dr.Madhepuri and Director Uddalak Ghosh with kids.
Dr.Madhepuri and Director Uddalak Ghosh with kids.

इस अवसर पर डॉ.मधेपुरी ने स्कूली बच्चों, उनके शिक्षक-शिक्षिकाओं तथा बुद्धिजीवियों एवं संविधान निर्माताओं की चर्चाएं की तथा शहीदों को नमन किया। फिर सेंट जॉन्स पब्लिक स्कूल के निदेशक उद्दालक घोष के अनुरोध पर स्कूली बच्चों के बीच भारतरत्न डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम के साथ बिताए क्षणों की चर्चा करते हुए डॉ.मधेपुरी ने बच्चों को अपनी “आजादी” कविता सुनाई।

चलते-चलते बता दें कि जहाँ जिला की ओर से डीएम नवदीप शुक्ला ने गणतंत्र दिवस पर बीएन मंडल स्टेडियम में झंडोत्तोलन किया वहीं बीएन मंडल विश्वविद्यालय में प्रभारी कुलपति डॉ.फारुख अली ने तिरंगे को सलामी दी। डॉ.मधेपुरी टीपी कॉलेज एवं विश्वविद्यालय सहित किरण पब्लिक स्कूल, यूके इंटरनेशनल, ज्ञानदीप निकेतन एवं तुलसी पब्लिक स्कूल सहित नेहरू युवा केंद्र आदि कई संस्थानों में अपनी उपस्थिति दी और बच्चों को संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जानकारी।

 

सम्बंधित खबरें


19वीं राज्य स्तरीय सब जूनियर बालिका कबड्डी में मिला मधेपुरा को तीसरा स्थान

तीन दिवसीय 19वीं राज्य स्तरीय सब जूनियर बालिका कबड्डी प्रतियोगिता में मधेपुरा जिले की टीम को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ। जिला कबड्डी संघ के अध्यक्ष जयकांत यादव एवं मधेपुरा कबड्डी की लाइफलाइन कहे जाने वाले सचिव अरुण कुमार ने कहा कि प्रतियोगिता में मधेपुरा की बालिका टीम ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए यह स्थान प्राप्त किया है।

आगे जिला कबड्डी के सचिव अरुण कुमार ने बताया कि टीम कप्तान सुनीति कुमारी हाल ही में खेलो इंडिया में गुवाहाटी जाकर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर लौटी और तुरंत बाद मुजफ्फरपुर के उच्च माध्यमिक विद्यालय मधुबन किशनपुर कुढ़नी में आयोजित तीन दिवसीय 19वीं राज्य स्तरीय सब जूनियर बालिका कबड्डी प्रतियोगिता में कप्तानी की जवाबदेही का निर्वहन करती हुई टीम को तीसरा स्थान दिलाई। सचिव श्री कुमार ने बताया कि कप्तान सुनीति के साथ-साथ रेजी, सोनी, आशा….. पल्लवी, नूतन, मौसम… पूजा, नीशू, अंजू, सहित शुभी व चंद्रिका ने बेहतर खेल प्रदर्शन किया।

चलते-चलते यह भी बता दें कि इस प्रतियोगिता में पटना की टीम ने प्रथम एवं बेगूसराय ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। जिन्होंने इस जीत को जिले के लिए गौरव की बात कही वे हैं- समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र नारायण मधेपुरी, दार्जिलिंग पब्लिक स्कूल के निदेशक सह निजी विद्यालय संघ के अध्यक्ष किशोर कुमार, बीआर ऑक्सफोर्ड के निदेशक मानव कुमार सिंह, हॉली क्रॉस की प्राचार्या डॉ.वंदना कुमारी, माया विद्या निकेतन की प्राचार्या चंद्रिका यादव, टीपीएस के निदेशक श्यामल कुमार सुमित्र, एवं खेल शिक्षिका सविता कुमारी आदि। सबों ने जमकर खिलाड़ियों को बधाई दी।

 

सम्बंधित खबरें


नेहरू युवा केन्द्र के बैनर तले जिला स्तरीय सांस्कृतिक कार्यक्रम हुआ संपन्न

शहीद चुल्हाय मार्ग पर अवस्थित शहर के बी.पी.मंडल नगर भवन में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 124वें जन्मदिन पर नेहरू युवा केन्द्र के बैनर तले जिला स्तरीय सांस्कृतिक कार्यक्रम 2019-20 का उद्घाटन समाजसेवी-साहित्यकार प्रो.(डॉ.)भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी ने किया।

प्रांगण रंग मंच द्वारा आयोजित इस जिला स्तरीय कार्यक्रम का श्रीगणेश डॉ.मधेपुरी, एनवाईके के जिला समन्वयक अजय कुमार गुप्ता, प्रांगण रंगमंच को जीवंत रखने वाले सुनीत साना, अध्यक्ष डॉ.संजय परमार सहित संगीत शिक्षिका शशि प्रभा एवं नीतू सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

इस अवसर पर जिले के कोने-कोने से आए विभिन्न विधाओं के कलाकारों को अपनी-अपनी प्रतिभाओं का प्रदर्शन करने हेतु मंच प्रदान किया गया। रोशनी एवं ध्वनि विस्तारक बेहतरीन यंत्रों की व्यवस्था के अतिरिक्त नाश्ता-पानी की व्यवस्था हेतु भी नेहरू युवा केन्द्र की ओर से विपुल भारती की पूरी टीम तैयार रही।

सुगम संगीत, समूह लोकगीत, एकल लोकगीत, शास्त्रीय संगीत, शास्त्रीय नृत्य, लोक नृत्य, लोकगाथा एवं अन्य कई विधाओं में प्रतिभागियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। छह घंटे से अधिक देर तक अनवरत चले कार्यक्रमों में आशीष कुमार सत्यार्थी का मंच संचालन दर्शकों का भरपूर मनोरंजन करता रहा।

Participant Divya Bharti receiving prize & momento from Chief Guest Dr.Madhepuri and others for her outstanding performance.
Participant Divya Bharti receiving prize & momento from Chief Guest Dr.Madhepuri and others for her outstanding performance.

आरंभ में डॉ.मधेपुरी सहित सभी अतिथियों ने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की भूमिका पर चर्चा की। डॉ.मधेपुरी ने बच्चों को अपनी “आजादी” कविता सुनाई तथा दिव्या भारती के बेहतरीन प्रदर्शन के लिए पुरस्कृत भी किया। सभी प्रतिभागियों को मोमेंटो तथा प्रमाण पत्र देकर पुरस्कृत किया गया।

सम्बंधित खबरें


मधेपुरा एसएनपीएम स्कूल के आनंद विजय को मिला कोलकाता विज्ञान मेला में प्रथम स्थान

जनवरी माह के 14 से 18 तारीख तक पूर्वी क्षेत्र के 11 राज्यों के छात्र कोलकाता के बिरला एंड टेक्नोलॉजी म्यूजियम सभागार में आयोजित विज्ञान मेला में सम्मिलित हुए। पांच दिवसीय विज्ञान मेला में पूर्वी ग्यारहों राज्य के प्रतिभागियों ने अपने-अपने मॉडल के साथ अपनी प्रस्तुति दी थी।

बता दें कि सभी प्रतिभागियों में एक था मधेपुरा के शिवनंदन प्रसाद मंडल+2 विद्यालय का छात्र आनंद विजय। आनंद विजय 10वीं का छात्र है जो बिहार में प्रथम स्थान प्राप्त कर कोलकाता पहुंचा था। कोलकाता में भी छात्र आनंद विजय ने विज्ञान मेला में प्रथम स्थान प्राप्त किया। विज्ञान में कुशलता प्राप्त छात्र आनंद को ₹4000 के चेक के साथ-साथ प्रशस्ति पत्र एवं मोमेंटो आदि प्रदान किया गया। आनंद विजय को स्कूल के लिए शिल्ड भी प्रदान किया गया था।

यह भी बता दे कि आनंद के स्कूल के वास्ते दिए गए शिल्ड प्राचार्य डॉ.संतोष कुमार को प्रदान करते हुए गुरु चरणों में नमन किया। छात्र आनंद को सिक्योरिटी लॉक के अद्भुत मॉडल तैयार करने के वास्ते प्रथम स्थान प्राप्त हुआ और पुरस्कृत भी किया गया। वह अपने पिताश्री प्रो.अनिल कुमार के साथ भौतिकी के विद्वान प्रोफेसर डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी से उनके आवास वृंदावन जा-जाकर शुभाशीष लेते रहे और आगे बढ़ते रहे।

 

सम्बंधित खबरें


कबड्डी खिलाड़ी सुनीति सहित अन्य तीन राष्ट्रीय स्तर पर जिले को किया गौरवान्वित और हुए सम्मानित

हाल ही में असम के गुवाहाटी में अखिल भारतीय स्तर पर तृतीय खेलो इंडिया में कबड्डी में बिहार के बालक-बालिकाओं की टीम ने तृतीय स्थान प्राप्त कर बिहार को गौरवान्वित किया। उसी टीम में मधेपुरा की सुनीति ने सूबे बिहार सहित जिले को भी गौरवान्वित किया।

State Level Kabaddi Player is being encouraged by Dr.Madhepuri, ADM Upendra Kumar & SDM Vrindalal.
State Level Kabaddi Player is being encouraged by Dr.Madhepuri, ADM Upendra Kumar & SDM Vrindalal.

बता दें कि राष्ट्रीय स्तर पर जिले को गौरवान्वित करने वाले चारो खिलाड़ियों- सुनीति कुमारी, विनेश कुमार, रेजी कुमारी एवं रेखा कुमारी- को अंगवस्त्रमादि व मोमेंटो देकर सम्मानित किया अपर समाहर्ता उपेंद्र कुमार, अनुमंडलाधिकारी वृंदालाल, समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी, निदेशक किशोर कुमार, उपाधीक्षक शारीरिक शिक्षा एस एन झा आदि ने।

यह भी बता दें कि छत्तीसगढ़ में हुए 65वें राष्ट्रीय स्कूली कबड्डी प्रतियोगिता में बिहार की ओर से मधेपुरा के ही 3 खिलाड़ी विनेश-रेजी एवं रेखा को भी सम्मानित किया गया। इन्हें सम्मानित किया जिला कबड्डी संघ के अध्यक्ष जयकांत यादव, सचिव अरुण कुमार, हाॅली क्रास की प्राचार्या डॉ.वंदना कुमारी, माया विद्या निकेतन की डॉ.चंद्रिका यादव, अजीर बिहारी, बीआर ऑक्सफोर्ड के निदेशक मानव कुमार व आरआर ग्रीन फील्ड के निदेशक राजेश कुमार आदि।

इस अवसर पर एडीएम उपेंद्र कुमार ने कहा कि मधेपुरा की पहचान खेल के क्षेत्र में अद्वितीय है। हर क्षेत्र में यहां के खिलाड़ी आगे बढ़ रहे हैं। एसडीएम वृंदालाल ने खिलाड़ियों की तारीफ करते हुए कहा कि कबड्डी में बालिकाएं भी मधेपुरा का नाम रौशन करने में सबसे आगे है। इन्हें आगे बढ़ने हेतु प्रशासनिक स्तर से भी प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।

समाजसेवी डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी ने कहा कि जिस किसी क्षेत्र में मधेपुरा के नाम को कोई भी बालक या बालिका राष्ट्रीय या राज्य स्तर पर गौरवान्वित करते हैं उन्हें जिला प्रशासन द्वारा 26 जनवरी को सम्मानित किया जाए ताकि खिलाड़ियों व प्रतिभागियों का मनोबल और भी बढ़ सके। डॉ.मधेपुरी ने कहा कि इस सम्मान कार्यक्रम के लिए निजी विद्यालय संघ के अध्यक्ष किशोर कुमार एवं जिला कबड्डी संघ के अध्यक्ष-सचिव धन्यवाद के पात्र हैं।

 

सम्बंधित खबरें


नेहरू युवा केंद्र द्वारा राष्ट्रीय युवा दिवस सप्ताह का समापन समारोह हुआ संपन्न

भारत सरकार के युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय विभाग के तहत देश के युवाओं की प्रतिभा को निखारने के लिए नेहरू युवा केंद्र वर्षों से देश के सभी जिले में कार्यरत है। नेहरू युवा केंद्र मधेपुरा के बैनर तले 13 से 19 जनवरी तक स्वामी विवेकानंद को युवाओं का प्रतीक मानकर राष्ट्रीय युवा सप्ताह मनाया गया जिसका समापन 19 जनवरी को कोलते कंप्यूटर संस्थान में नेहरू युवा केंद्र के समन्वयक अजय कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में संपन्न हुआ।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी ने अपने विस्तृत संबोधन द्वारा संस्थान के युवाओं सहित नेहरू युवा केंद्र से जुड़े युवजनों का भरपूर उत्साह वर्धन किया। डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी ने स्वामी विवेकानंद के शिकागो एवं जापान के भ्रमण को संदर्भित करते हुए तथा युवाओं के हितार्थ विस्तृत जानकारियां देते हुए कहा कि युवाओं को हमेशा सकारात्मक सोच से लैस होना चाहिए। लेडीज एंड जेंटलमेन की जगह स्वामी विवेकानंद की तरह ब्रदर्स एंड सिस्टर्स कह कर हर दिल में जगह बनानी चाहिए और वसुधैव कुटुंबकम के संदेश से दुनिया को अवगत कराना चाहिए। आगे डॉ.मधेपुरी ने स्वामी विवेकानंद को संदर्भित कर यही कहा कि विवेक और वैराग्य से युवजन अपने विषय की अभिलाषा से मुक्त हो सकते हैं लेकिन वासना निर्मूल नहीं हो सकती। परंतु डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम ने उनसे एक बार कहा था कि यदि तुम ऊंचे लक्ष्य पाने के लिए सारी ऊर्जा को वहां केंद्रित कर दो तो कुछ पल के लिए ही सही तुम वासना से भी मुक्त हो सकते हो…।

मौके पर विशिष्ट अतिथि प्रो.(डॉ.)संजय परमार, प्रभात कुमार ने भी अपने संबोधनों में युवाओं को खूब उत्साहित किया। अध्यक्षीय भाषण में समन्वयक अजय कुमार गुप्ता ने नेहरू युवा केंद्र के आगे होने वाले कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारियां दी तथा विगत वर्ष में विभिन्न कार्यक्रमों के दौरान प्राप्त की गई उपलब्धियों के लिए साधुवाद दिया।

सम्बंधित खबरें


बिहार में बनी विश्व रिकॉर्ड से 15 गुना बड़ी मानव-श्रृंखला

बिहार ने एक बार फिर इतिहास रच दिया। यह तीसरी बार है जब बिहार में मानव-श्रृंखला का आयोजन किया गया। पिछली बार की तरह इस बार भी बिहार ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा। जल-जीवन-हरियाली और नशामुक्ति के समर्थन एवं बाल विवाह और दहेज प्रथा के विरोध में इस बार 5 करोड़ 16 लाख 71 हजार 389 बिहारवासियों ने 18,034 किलोमीटर लंबी मानव-श्रृंखला बनाई। इस श्रृंखला की भव्यता और विशालता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि बिहार की मानव-श्रृंखला 1155 किलोमीटर के विश्व रिकॉर्ड से 15 गुना बड़ी है। इस तरह बिहार ने अपना ही रिकॉर्ड और बेहतर करते हुए विश्व रिकॉर्ड को तीसरी बार तोड़ा।
बता दें कि इस ऐतिहासिक मानव-श्रृंखला का शुभारंभ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना के गांधी मैदान से गुब्बारा उड़ाकर किया। मानव-श्रृंखला के लिए हुए इस मुख्य आयोजन में मुख्यमंत्री के साथ उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, विधान परिषद के कार्यकारी सभापति हारुण रशीद सहित कई वरिष्ठ मंत्री, सांसद एवं आला अधिकारी मौजूद रहे। इस अवसर पर जलपुरुष एवं मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित श्री राजेन्द्र सिंह एवं यूएनआईपी के इंडिया कंट्री हेड अतुल बगई गांधी मैदान में विशेष तौर पर मौजूद रहे।
मानव-श्रृंखला को लेकर पूरे बिहार में उत्सव-सा माहौल रहा। हालांकि इसके लिए दिन के 11.30 से 12.00 बजे का समय निर्धारित था लेकिन उत्साह का आलम यह था कि लोग 10 बजे से ही कतार में लगने के लिए घरों से निकलने लगे। यहां तक कि बिहार के विभिन्न जेलो के 43445 कैदी भी जेलकर्मियों के साथ इस श्रृंखला में शामिल हुए। मानव-श्रृंखला की फोटोग्राफी के लिए 07 हैलीकॉप्टर और 100 से अधिक ड्रोन लगाए गए थे। इस श्रृंखला पर देश और दुनिया की नजरें टिकी थीं। इसके साथ ही दो प्रतिष्ठित रिकॉर्ड बुक – इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स तथा लिमका बुक ऑफ रिकॉर्ड्स – की टीमें भी इसे परखने के लिए बिहार में जमी थीं।
मानव-श्रृंखला के इस विराट आयोजन के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहारवासियों को उनके अभूतपूर्व समर्थन के लिए “हृदय से धन्यवाद” देते हुए कहा कि पर्यावरण संरक्षण तथा जलवायु परिवर्तन एवं अन्य सामाजिक सुधार के अभियानों के प्रति जागरुकता फैलाने में यह मानव-श्रृंखला मील का पत्थर साबित होगी। बिहार प्रदेश जदयू के अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में ऐतिहासिक मानव-श्रृंखला बनाकर बिहार ने पूरे विश्व को संदेश दिया है। जदयू के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) आरसीपी सिंह ने कहा कि इस अभूतपूर्व मानव-श्रृंखला का आयोजन कर बिहारवासियों ने राज्य को नया गौरव दिया है।

Samajsevi Dr.Bhupendra Madhepuri along with senior citizens of Madhepura taking part in Jal-Jeevan-Hariyali Manav-Shrinkhala at Bhupendra Chowk, Madhepura.
Samajsevi Dr.Bhupendra Madhepuri along with senior citizens of Madhepura taking part in Jal-Jeevan-Hariyali Manav-Shrinkhala at Bhupendra Chowk, Madhepura.

वहीं मधेपुरा के समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी ने मुख्यमंत्री को उनके जल-जीवन-हरियाली यात्रा के दौरान शुभकामना व्यक्त करते हुए यही कहा था कि आपका यह कार्यक्रम  एक दिन “वैश्विक क्रांति” का मार्ग प्रशस्त करेगा….. जैसा कि बिहार वासियों की  बढ़ती हुई सहभागिता से स्पष्ट नजर आने लगा है।‘मधेपुरा अबतक’ भी इस मौके पर बिहारवासियों को हार्दिक बधाई और साधुवाद देता है।

सम्बंधित खबरें


मनीषी भूपेन्द्र के जन्मदिन यानि 01 फरवरी को मनेगा विश्वविद्यालय का स्थापना दिवस भी……!

मंडल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.(डॉ.)अवध किशोर राय की अध्यक्षता में आलाधिकारियों की एक बैठक हुई। बैठक में कुलपति डॉ.राय ने कहा कि इस विश्वविद्यालय की स्थापना समाजवादी चिंतक भूपेन्द्र नारायण मंडल के नाम पर हुई थी। कोसी व सीमांचल के पिछड़े इलाके में शिक्षा की रौशनी फैलाने में इसने अहम भूमिका निभाई है।

बता दें कि मंडल विश्वविद्यालय के 27 वर्ष हो गए हैं। गत वर्ष रजत जयंती समारोह आयोजित किया गया जिसका समापन आगामी एक फरवरी को ही होगा। कुल मिलाकर तीन आयोजनों का संगम होगा एक फरवरी को- पहला मनीषी भूपेन्द्र की 117वीं जयंती, दूसरा बीएनएमयू का 28वाँ स्थापना महोत्सव एवं तीसरा बीएनएमयू के रजत जयंती समारोह का समापन भी।

चौथा यह भी कि एक फरवरी को “मंडल विश्वविद्यालय : कल, आज और कल” पुस्तक प्रकाशित करने की योजना कमेटी ने बनाई है जिसमें विश्वविद्यालय के इतिहास, उसकी उपलब्धियाँ एवं कार्य योजनाओं से संबंधित सामग्री सहित आलेखों व चित्रों को स्थान दिया जाएगा। बीएनएमयू से जुड़े संस्मरण आदि भी प्रकाशित किए जाएंगे। इसके लिए 25 जनवरी तक सामग्रियां आमंत्रित की गई हैं। 1 फरवरी को पुस्तक का विमोचन होगा।

इन चारों आयोजनों के लिए चार कमेटियों का गठन किया गया है। संचालन समिति में होंगे- प्रतिकुलपति, कुलानुशासन, कुलसचिव, एफओ, विकास पदाधिकारी एवं स्टेट ऑफिसर। इवेंट मैनेजमेंट कमिटी में होंगे- डॉ.एमआई रहमान, डॉ.अबुल फजल एवं डॉ.नरेंद्र श्रीवास्तव। सांस्कृतिक कमेटी में होंगे- डॉ.बीएन विवेका, डॉ.रीता सिंह डाॅ.शंकर कुमार मिश्र एवं पृथ्वीराज यदुवंशी। भोजन समिति में होंगे- पीए टू कुलपति शंभू नारायण यादव, पीए टू कुलसचिव राजीव कुमार, राजेश कुमार, बबलू ठाकुर एवं विवेकानंद।

चलते-चलते यह भी कि बैठक में वित्तीय परामर्शी सुरेश चंद्र दास, परीक्षा नियंत्रक डॉ.नवीन कुमार, बीओ डॉ.एमएस पाठक एवं पीआरओ डॉ.सुधांशु शेखर आदि भी उपस्थित थे।

सम्बंधित खबरें


तुलसी पब्लिक स्कूल द्वारा आयोजित मानव श्रृंखला के पूर्वाभ्यास को संबोधित किया डॉ.मधेपुरी ने

सूबे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आह्वान पर समस्त बिहार में “जल-जीवन-हरियाली” की सुरक्षा के तहत दिनांक 19 जनवरी (रविवार) को 16 हजार किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनाई जाएगी। इसे सफल करने हेतु दिनभर सरकारी एवं गैर-सरकारी स्कूलों में जा-जाकर समाजसेवी डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी ने बच्चों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि 70 वर्षों से इस देश में लोगों को पर्याप्त जल भी उपलब्ध नहीं हो पाया है। जल को बचाना जरूरी है। सवेरे उठकर ब्रश करते वक्त टेप खुला नहीं छोड़ना बच्चों ! दिन के अंत में तुलसी पब्लिक स्कूल के छात्रों के द्वारा किए जा रहे पूर्वाभ्यास में शामिल होकर डॉ.मधेपुरी ने कहा कि हरियाली की कमी के कारण पटना से लेकर दिल्ली तक के विभिन्न शहरों में पर्यावरण तेजी से प्रदूषित हो रहा है। सांस लेना भी मुश्किल हो रहा है। यह मानव श्रृंखला लोगों को जन्मदिन, शादी के दिन तथा राष्ट्रीय उत्सव के दिन एक-एक वृक्षारोपण करने हेतु जागरूक करेगा।

Samajsevi Dr.Bhupendra Madhepuri talking to the School kids regarding the importance of Jal-Jeevan-Hariyali.
Samajsevi Dr.Bhupendra Madhepuri talking to the School kids regarding the importance of Jal-Jeevan-Hariyali.

निदेशक श्यामल कुमार सुमित्र ने कहा कि रविवार को 11:30 बजे से 12:00 बजे तक टीपीएस के सभी छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों को माननीय मुख्यमंत्री द्वारा इस सर्वोत्कृष्ट आयोजन जल-जीवन-हरियाली की सफलता के लिए मानव श्रृंखला का हिस्सा बनना है।

अंत में डॉ.मधेपुरी ने टीपीएस के छात्रों को देर तक जल-जीवन-हरियाली के बाबत प्रश्नोत्तर के माध्यम से जागरूक किया। उन्होंने धरती को रहने योग्य बनाने हेतु विस्तार से चर्चा की।

सम्बंधित खबरें