Tag Archives: Vittrahit Shikshak

वित्तरहित शिक्षकों को गति देने में लगे हैं कोसी के MLC डॉ.संजीव

कोसी शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के एमएलसी डॉ.संजीव कुमार सिंह, तिरहुत शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के एमएलसी प्रो.संजय कुमार सिंह एवं गया शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के एमएलसी संजीव श्याम सिंह सरीखे त्रिमूर्ति ने शिक्षा विभाग के नये मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा एवं सचिवों के साथ शिक्षकों के हित में विभागीय समीक्षात्मक बैठक अंततः ‘शिक्षक दिवस’ के एक दिन बाद यानि 6-9-2017 को आयोजित करने की सहमति ले ही ली | जानकारी मिलते ही बिहार के विभिन्न कोटि के शिक्षकों एवं अप्रशिक्षित नियोजित शिक्षकों, मदरसा एवं संस्कृत विद्यालयों के शिक्षकों, प्रोजेक्ट विद्यालय के शिक्षकों एवं प्रधानाचार्यों के रूप में नियुक्त होने वाले शिक्षकों के बीच खुशी की लहर उठने लगी है |

यह भी बता दें कि अनुदानित माध्यमिक, उच्च माध्यमिक यानि इंटर महाविद्यालय एवं डिग्री महाविद्यालय में G.E.R बढ़ाने हेतु सीट वृद्धि का प्रावधान एवं ऐसे संस्थानों के लंबित सभी अनुदान एकमुस्त विमुक्त करने हेतु विशेष प्रावधान पर विचार किया जाना है | विद्यालयों के संयोजक के पद पर पूर्व के प्रावधान  को ही लागू किये जाने की व्यवस्था पर विचार किया जायेगा |

यह भी जानिये कि राज्य सरकार द्वारा सम्बद्ध डिग्री कॉलेजों को प्राप्त अनुदान की राशि शिक्षकों एवं कर्मियों के बीच वितरित नहीं करने पर विश्वविद्यालय द्वारा वैसे कालेजों के शासीनिकाय को भंग कर तदर्थ समिति गठित कर दी जायेगी | वर्षों से लंबित संबंधन एवं पदसृजन की प्रक्रिया भी शुरु होगी |

बता दें कि अधिनियमानुसार सम्बद्ध डिग्री महाविद्यालय में 19-4-2007 के बाद नियुक्त शिक्षकों को भी चयन समिति के माध्यम से सेवा नियमितीकरण के संबंध में 6 सितंबर की बैठक में कोसी के शिक्षक प्रतिनिधि डॉ.संजीव कुमार सिंह अपने सहयोगियों के साथ अपनी ही सरकार पर शिक्षकों के हित में जोर-शोर से दबाव डालेंगे तथा अमलीजामा पहनाकर ही दम लेंगे | इसी बैठक में 1128 मदरसा शिक्षकों एवं 531 संस्कृत शिक्षकों के वेतनमान की चर्चा भी की जायेगी |

कोसी शिक्षक प्रतिनिधि डॉ.संजीव कुमार सिंह ने अंत में बताया कि अल्पसंख्यक विद्यालय के शिक्षकों के अर्जित अवकाश, सेवानिवृत्त शिक्षकों के बकाये सेवान्त लाभ, कार्यरत शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति का लाभ, 1975 से पूर्व नियुक्त डिमोंस्ट्रेटर को छठे वेतन पुनरीक्षण का लाभ दिलाने के साथ-साथ 1966 के बाद पी-एच.डी. प्राप्त शिक्षकों को 3 वेतन वृद्धि का लाभ दिलाने के लिए पुरजोर कोशिश की जायेगी और इसके साथ-साथ BPSC द्वारा नियुक्त शिक्षकों के लिए वेतन विमुक्ति की चर्चा भी जमकर की जायेगी |

इन त्रिमूर्तियों के द्वारा ऐसे-ऐसे 19 विचारनीय बिंदुओं पर (25 अगस्त को ही) आगामी 6 सितंबर को बैठक आयोजित किये जाने के लिए सरकार से स्वीकृति प्राप्त कर ली गई है | अब देखना है कि हमें कितनी सफलता मिलती है…….!

सम्बंधित खबरें


वित्तरहित शिक्षक के संरक्षक डॉ.संजीव ने ली शपथ !

कोसी शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रान्तर्गत ताज़िन्दगी शिक्षकों की सेवा करनेवाले एमएलसी डॉ.शारदा प्रसाद सिंह के नक्शे कदम पर चलते हुए इस बार हैट्रिक लगाने वाले उन्हीं के सुपुत्र डॉ.संजीव कुमार सिंह जद(यू) सहित नवनिर्वाचित अन्य तीन सदस्यों अवधेश नारायण सिंह, संजीव श्याम सिंह एवं वीरेंद्र नारायण यादव को विधान परिषद के उप भवन सभागार में 10 मई को संध्या 4:00 बजे कार्यकारी सभापति मो.हारूण रशीद ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई |

यह भी बता दें कि शपथ ग्रहण करने वाले इन चारों नवनिर्वाचित विधान पार्षदों- पूर्व सभापति सह गया स्नातक से विजयी भाजपा नेता अवधेश नारायण सिंह, वहीं के शिक्षक क्षेत्र से विजयी रालोसपा के संजीव श्याम सिंह एवं सारण स्नातक क्षेत्र से विजयश्री प्राप्त वीरेंद्र नारायण यादव सहित डॉ.संजीव कुमार सिंह का कार्यकाल 9 मई 2017 से 8 मई 2023 तक का होगा यानि पूरे 6 वर्षों का कार्यकाल होगा |

यह जानिए कि नवनिर्वाचित सभी सदस्यों को परिषद के नये उपभवन में कार्यकारी सभापति मो.हारुण रशीद द्वारा शपथ दिलाई गई | शपथ ग्रहण के बाद सबों ने मंच पर उपस्थित मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी सहित पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव, ऊर्जा मंत्री सह मधेपुरा जिला प्रभारी मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव, शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, से हाथ मिला-मिलाकर अभिवादन स्वीकार किया गया |

बता दें कि यशस्वी पिता के यश को उर्ध्वगामी बनाये रखनेवाले डॉ.संजीव गठबंधन धर्म निभाते हुए वित्तरहित शिक्षकों के हित में निर्भीकतापूर्वक अपनी बातें रखते रहे हैं और आगे भी रखेंगे | पिताश्री के पद चिन्हों पर चलते हुए इन वित्तरहित शिक्षकों के हित में अहर्निश बौद्धिक सजगता प्रदर्शित करते रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे | इसलिए तो उच्चतम न्यायालय ने भी “समान कार्य के लिए समान वेतन” जैसे संघर्ष को सार्थक साबित करते हुए समर्थन दिया है |

यह भी जानिए कि चन्द रोज कबल यानी 6 मई को डॉ.संजीव ने भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के 8 अरब 52 करोड़ के बजट को अभिषद की बैठक में अपनी स्वीकृति देकर पास किया और अनुकंपाकर्मियों के भुगतान, नवनियुक्त शिक्षकों को कालेज के आंतरिक श्रोत से भुगतान सहित 73 प्रोन्नत शिक्षक-रीडरों को अंडरटेकिंग लेकर भुगतान करने पर मुहर लगा दी |

Newly Elected MLC Dr.Sanjeev Kumar Singh receiving blessings from Dr.Bhupendra Madhepuri at his residence (Vrindavan) Madhepura and discussing the problems of Vittrahit Shikshak .
Newly Elected MLC Dr.Sanjeev Kumar Singh receiving blessings from Dr.Bhupendra Madhepuri at his residence (Vrindavan) Madhepura and discussing the problems of Vittrahit Shikshak .

फिर शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने हेतु राजधानी पटना वापस लौटने के क्रम में मधेपुरा के मंडल विश्वविद्यालय में परीक्षा नियंत्रक- विकास पदाधिकारी सहित विभिन्न पदों पर सेवारत रह चुके सेवानिवृत्त फिजिक्स के यूनिवर्सिटी प्रोफेसर एवं वित्तरहित शिक्षकों के प्रति अतिसंवेदनशील डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी का शुभाशीष प्राप्त करने उनके निवास ‘वृंदावन’ गये और चाय पीने के क्रम में 10 मई को होने वाले शपथ ग्रहण की चर्चा हुई तो डॉ.मधेपुरी ने एमएलसी डॉ.संजीव को शुभ आशीर्वचन देते हुए बस इतना ही कहा- शारदा बाबू तो रिजल्ट के दूसरे ही दिन से अगले चुनाव की तैयारी हेतु शिक्षकों के हित में कार्यारम्भ कर देते थे……. आप भी उसी पथ पर चलेंगे…….. चलते ही रहेंगे……. और आगे बढ़ते ही रहेंगे….!!

सम्बंधित खबरें