राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष (पूर्व केंद्रीय मंत्री) डॉ.रघुवंश प्रसाद सिंह ने नाराज होकर उपाध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा

आज राष्ट्रीय जनता दल की धरती पर दो बार झटका महसूसा लोगों ने। पहली बार तब जब राजद के पांच विधान परिषद सदस्य पार्टी छोड़कर जदयू में शामिल हो गए। दूसरा बड़ा झटका राजद को पुनः तब लगा जब कोरोना से संक्रमित रघुवंश प्रसाद सिंह (पूर्व केंद्रीय मंत्री) ने राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

बता दें, ऐसा माना जाता है कि वैशाली के पूर्व सांसद रमा सिंह को राजद में शामिल किए जाने के विरोध में रघुवंश प्रसाद सिंह ने यह कदम उठाया है।

जानिए कि राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के पद से त्यागपत्र देने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह, जो फिलहाल पटना एम्स में कोरोना से युद्ध कर रहे हैं, ने राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव से दो-दो हाथ करने को कदम बढ़ा चुके हैं।

कोरोना पॉजिटिव पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह द्वारा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद जो कुछ बयान दिया गया… उस बयान ने कोरोना की तरह पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं में दहशत पैदा कर दिया है-

“हर संकट में लालू प्रसाद का साथ दिया और वह पार्टी को नर्क बना दिया… पैसे लेकर टिकट बेचना अब बर्दाश्त नहीं…. पार्टी के लिए समर्पित कार्यकर्ताओं की उपेक्षा अब सहन नहीं की जा सकती…. कहने को तो और बहुत कुछ है…. फिलहाल स्वस्थ तो होने दीजिए।”

सम्बंधित खबरें