Tag Archives: B.N Mandal Stadium Madhepura

डॉ.रवि ने किया त्रि-दिवसीय भारतीय संस्कृति के महाकुम्भ का उद्घाटन

मधेपुरा; 25 मई 1943 को आम लोगों के बीच जनवादी विचारों को ले जाने के लिए देश के कुछ कलाकारों, रंगकर्मियों एवं वैज्ञानिकों ने जिस संस्था की स्थापना की उसे नाम दिया विश्व प्रसिद्द वैज्ञानिक डॉ.होमी जहाँगीर भाभा ने- I.P.T.A यानी Indian Peoples’ Theatre Association . ie’ भारतीय जन नाट्य संघ |

मधेपुरा इप्टा द्वारा बी.एन.मंडल स्टेडियम में आयोजित त्रि-दिवसीय भारतीय संस्कृति के महाकुम्भ का उद्घाटन पूर्व सांसद व मंडल वि.वि. के संस्थापक कुलपति डॉ.रमेन्द्र कुमार यादव रवि, विधान पार्षद विजय कुमार वर्मा, डी.एम. मो.सोहैल, डी.डी.सी. मिथिलेश कुमार, प्रो.श्यामल किशोर यादव, प्रो.योगेन्द्र नारायण यादव, समाज-सेवी साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी एवं अभिषद सदस्य डॉ.नरेश कुमार आदि ने दीप प्रज्वलित कर संयुक्तरूप से किया |

अपने उद्घाटन भाषण में डॉ.रवि ने विस्तार से शिक्षा मनीषी कीर्ति नारायण मंडल के त्याग एवं शिक्षा के प्रति ललक का आँखों देखा हाल दर्शकों के समक्ष परोसा जिन्हें इप्टा ने यह मंच उनके जन्मशती पर समर्पित कर दिया है | विधान पार्षद श्री वर्मा ने पूर्ण नशाबंदी के लिए सरकार की सराहना की तथा इप्टाकर्मियों द्वारा नशाबन्दी के फायदों को घर-घर तक ले जाने के लिए उन्हें साधुवाद दिया |

मुख्य अतिथि डी.एम. मो.सोहैल ने कहा की इप्टा अपने रास्ते पर अभी भी चल रहा है और जनवादी विचारों को लोगों तक पहुंचा रहा है | मौके पर डी.डी.सी. मिथिलेश कुमार डॉ.विनय कुमार चौधरी, डॉ.नायडू, प्रो.सचिन्द्र और डॉ.आलोक ने विचार व्यक्त करते हुए कार्यक्रम के आयोजकों का स्वागत भी किया |

समाजसेवी डॉ.मधेपुरी ने कहा कि कीर्ति बाबू को जानने के लिए महात्मा कबीर को जानना होगा और महात्मा गाँधी को भी जानना होगा | इस शिक्षा मनीषी को जानना हो तो गुरु नानक और पं.मदन मोहन मालवीय को जानना होगा | डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी ने विश्वविख्यात परमाणु ऊर्जा के वैज्ञानिक डॉ.भाभा के ज्ञान-विज्ञानं तथा इप्टा के प्रति समर्पण की विस्तार से चर्चा की |

असम के बिहू एवं बंगाल के ‘कृष्णा’ सहित ज्ञान विज्ञान के सचिव मुरलीधर द्वारा मधनिषेध पर आधारित नाट्य ‘सबक’ का मंचन किया गया | अंत में मो. नौशाद एवं प्रो. योगेन्द्र ना. यादव की पुस्तकों का विमोचन किया गया |

अध्यक्षीय भाषण में कार्यकारी आध्यक्ष डॉ. नरेश कुमार ने कहा कि इप्टा के कार्यक्रमों के माध्यम से इसके लाभकारी विचारों को आम जन तक ले जायेंगे | प्रशान्त कुमार ने धन्यवाद ज्ञापित किया |

सम्बंधित खबरें


पूर्ण नशाबंदी का श्रेय महिलाओं को दिया नीतीश सरकार ने

मधेपुरा; नीतीश के साहसिक फैसले को सारा बिहार सलाम करता है | चार दिनों में ही शराब न पीने की एक करोड़ सतरह लाख शपथ-पत्र तथा बारह लाख अनठावन हजार लीटर देसी शराब नष्ट किये जाने की जानकारी मिलते ही जहाँ सी.एम. के सचिव चंचल कुमार द्वारा मुख्यमंत्री सचिवालय, आवास एवं बिहार विकास मिशन के पदाधिकारियों-कर्मियों को आजीवन शराब न पीने की शपथ दिलाई गई, वहीँ मधेपुरा जिले के डायनेमिक डी.एम. मो.सोहैल ने बी.एन.मंडल स्टेडियम में मंगलवार को पुलिस एवं प्रशासन से जुड़े पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों को आजीवन नशापान नहीं करने की शपथ दिलाई | सबों के द्वारा शराब नहीं पीने का शपथ पत्र पढ़ा गया |

डी.एम. मो.सोहैल ने शपथ पत्र पढाये जाने के बाद अपने संक्षिप्त संबोधन में यही कहा कि एक भी पुलिस अथवा प्रशासन के कर्मचारी यदि शराब पीकर ड्यूटी पर आते हैं और जाँच के दौरान सही पाये जाते हैं तो उन्हें अविलम्ब नौकरी से निलंबित कर दिया जायेगा तथा अन्य कठोर दण्ड देने की अग्रेतर करवाई आरम्भ कर दी जाएगी | डी.एम. ने यह भी कहा कि जो कर्मचारी उचित कारण के बिना जानबूझकर शपथ ग्रहण में शामिल नहीं हुए – उन पर भी करवाई की जाएगी |

नीतीश सरकार की पूर्ण नशाबन्दी से दलित बस्तियों की महिलाओं में सर्वाधिक प्रसन्नता देखी जा रही है | सारी महिलाएं चहक-चहक कर नीतीश को दुआएं दे रही हैं |

कहीं शहरों में शराब नहीं पीने का संकल्प लिया जा रहा है तो कहीं गाँव को नशामुक्त गाँव बनाने का ग्रामीणों द्वारा शपथ लिया जा रहा हैं | वस्तुतः देसी-विदेशी शराब पर पूर्ण प्रतिबंध से बिहार के सामाजिक जीवन और सभ्यता-संस्कृति में बड़ा बदलाव होगा | अब ना तो शरीर का नाश होगा और ना आत्मा पथभ्रष्ट होगी | तभी तो शराब बंदी के पक्ष में सात लाख नारे लिखे गये और 84 हजार नुक्कड़ नाटक हुए |

जब नीतीश कुमार के पूर्ण शराबबंदी पर मधेपुरा अबतक द्वारा समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी से प्रतिक्रिया माँगी गई तो उन्होंने बस यही कहा कि अब बिहार अपनी खोई विरासत वापस पा लेगा और हर मायने में देश का अव्वल राज्य बनेगा |

सम्बंधित खबरें


एक शाम : शहीदों के नाम

बिहार सरकार के अपर पुलिस महानिदेशक के निदेश पर सम्पूर्ण प्रदेश में पुलिस-पब्लिक रिलेशन बढ़ाने के लिए पुलिस सप्ताह (22-27 फरवरी) मनाने का संकल्प लिया गया था | पुलिस-पब्लिक के बीच बेहतर सम्बन्धों की  शुरुआत करने हेतु वृक्षारोपण, मैराथन दौड़, फुटबाल मैच, वाँलीबॉल, कबड्डी, ट्रैफिक जागरूकता………….एवं महाविद्यालयों – विश्वविद्यालयों के छात्रों के बीच पुलिस-पब्लिक बेहतर सम्बन्धों के बाबत वाद-विवाद प्रतियोगिता, बाल कलाकारों द्वारा पेंटिंग के साथ-साथ देशभक्त शहीद पुलिसकर्मियों की स्मृति में स्कूली बच्चों द्वारा आयोजित सभी कार्यक्रमों के वेस्ट परफार्मरों तथा उत्कृष्ट कार्य करने वाले पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत करने हेतु जिले के डायनेमिक डी.एम. मो.सोहैल, अनुभवी एस.पी. विकास कुमार, आलराउंडर ए.एस.पी. राजेश कुमार, डी.डी.सी. मिथिलेश कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी संजय कुमार निराला, एवं समाजसेवी डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी सहित शहर के सर्वाधिक सूधी श्रोतागण ने स्थानीय बी.एन.मंडल स्टेडियम में “एक शाम : शहीदों के नाम”का भरपूर आनन्द उठाया |

From L to R Dr.Madhepuri, S.P Vikas Kumar, D.M Md.Sohail, D.D.C Mithilesh Kumar, SDM Sanjay Kumar Nirala, ASP Rajesh Kumar along with Citizen of Madhepura enjoying " Ek Sham : Shahidon Ke Naam".
From L to R Dr.Madhepuri, S.P Vikas Kumar, D.M Md.Sohail, D.D.C Mithilesh Kumar, SDM Sanjay Kumar Nirala, ASP Rajesh Kumar along with Citizen of Madhepura enjoying ” Ek Sham : Shahidon Ke Naam”.

इसके पहले दीप प्रज्जवलित कर डी.एम. मो.सोहैल सहित अन्य सभी ने कार्यक्रम का शुभारम्भ किया तथा डी.एम. ने कहा कि पुलिस-पब्लिक के बीच बेहतर सम्बन्ध स्थापित होने के दूरगामी अच्छे परिणाम सामने आयेंगे | एस.पी. विकास कुमार ने स्कूली बच्चों-शिक्षकों एवं बुद्धिजीवियों के सहयोग की सराहना की |

डॉ.मधेपुरी ने विभिन्न स्कूली बच्चों द्वारा प्रस्तुत किये गये सांस्कृतिक कार्यक्रमों का मुल्यांकन किया जिसके आधार पर तुलसी पब्लिक स्कूल द्वारा प्रस्तुत ‘लोकगीत सेमा चकेवा’ प्रथम, हॉली क्रॉस द्वितीय एवं जितेन्द्र पब्लिक स्कूल को तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया | डॉ.मधेपुरी ने मोहन शकुन्तला स्कूल, माया विद्या निकेतन, दार्जीलिंग पब्लिक स्कूल की भी काफी सराहना की | उन्होंने कहा कि परिमल संगीत केंद्र की प्रस्तुति, रोशन कुमार की गज़ल-गायकी तथा शशिप्रभा की- ‘ऐ मेरे वतन के लोगों………..’ की प्रस्तुति ने कार्यक्रम में चार चाँद लगा दिया |

Thana Adhyaksh Madhepura Manish Kumar & Bharrahi, Ghailadh......thanadhyaksh receiving Certificate of Excellence given by DGP through Dr.Madhepuri, SP, DDC, ASP in Samapan Samaroh at B.N Mandal Stadium Madhepura
Thana Adhyaksh Madhepura Manish Kumar & Bharrahi, Ghailadh……thanadhyaksh receiving Certificate of Excellence given by DGP through Dr.Madhepuri, SP, DDC, ASP in Samapan Samaroh at B.N Mandal Stadium Madhepura

जिले के आधे दर्जन पुलिस पदाधिकारियों और सिपाहियों को एस.पी. विकास कुमार, डी.डी.सी. मिथिलेश कुमार एवं समाजसेवी डॉ.मधेपुरी ने सम्मानित किया और विशेष रूप से डी.जी.पी. द्वारा प्रेषित प्रशस्तिपत्र देकर पुनः सम्मानित किया गया- ए.एस.पी. राजेश कुमार के नेतृत्व में कुख्यात अपराधी को पकड़ने वाले जाँबाज थानाध्यक्ष संजीव कुमार, प्रसुंजय कुमार एवं अमर कुमार व अभिषेक कुमार को संयुक्त रूप से डॉ.मधेपुरी, एस.पी. एवं डी.डी.सी. द्वारा |

आई.जी. द्वारा पुरस्कृत मधेपुरा थानाध्यक्ष मनीष कुमार, ए.एस.आई. अशोक कुमार साह, कमांडो हेड विपिन कुमार, उदयशंकर, वकील, अभिमन्यु, अजय, मनोज, नीतीश एवं धर्मेन्द्र को भी सम्मानित किया गया | हेड कमांडो विपिन को सम्मानित करते समय दर्शकों द्वारा भी जोरदार तालियों से इनको सम्मान दिया गया |

अन्त में अपने आशीर्वचन युक्त सम्बोधन द्वारा डॉ.मधेपुरी ने राम-रावण संवाद को दर्शकों के समक्ष रखा- रावण कहता है- हे राम ! मैं तुमसे अधिक बलवान हूँ, धनवान हूँ,………….., सब कुछ में आगे रहते हुए भी युद्ध में इसलिए तुमसे हार गया कि तुम्हारा भाई तुम्हारे साथ था और मेरा भाई मुझसे अलग……… ! और यह सुनाते हुए डॉ.मधेपुरी ने कहा कि यदि पुलिस-पब्लिक एक साथ मिलकर चले तो भारत का कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता चाहे वह कितना ही बड़ा आतंकवादी क्यों न हो !

इस जानदार-शानदार “एक शाम : शहीदों के नाम” कार्यक्रम की अध्यक्षता आलराउंडर ए.एस.पी. राजेश कुमार ने की और मंच संचालन ‘राष्ट्रीय वक्ता’ हर्षवर्धन सिंह राठौर, ख्यात इप्टाकर्मी सुभाष चंद्रा एवं जिला कबड्डी संघ के सचिव अरुण कुमार ने संयुक्त रूप से किया |

सम्बंधित खबरें