जिले में आज ईद हर्षोल्लास के साथ मनाई गयी

आज रमजान के पवित्र महीने की समाप्ति पर ईद-उल-फितर के पावन अवसर पर जहाँ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व महामहिम राज्यपाल लालजी टंडन द्वारा बिहार वासियों को हार्दिक बधाई, शुभकामना व मुबारकबाद दिया गया वहीं जिला मुख्यालय मधेपुरा के मुस्लिम बच्चे-बूढ़े व नौजवानों के साथ मधेपुरा के डॉ.कलाम कहे जाने वाले समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र नारायण मधेपुरी एक-दूसरे से गले मिलकर ईद मुबारक के साथ-साथ यह भी कहा कि ईद और होली आपसी सौहार्द व प्रेम का प्रतीक है | डॉ.मधेपुरी ने ईद को हर्षोल्लास के साथ इस तरह मनाने की चर्चा की ताकि भारत की “गंगा-जमुनी” संस्कृति में और अधिक निखार आये और लोग मधेपुरी की पंक्तियाँ सदैव गुनगुनाये –

होली ईद मनाओ मिलकर,

कभी रंग को भंग करो मत।

भारत की सुन्दरतम छवि को,

मधेपुरी बदरंग करो मत।।

Dr.Madhepuri greeting people on the occasion of Eid-Milan.
Dr.Madhepuri developing ‘Ganga-Yamuni Sanskriti’ on the occasion of Eid at Madhepura.

यह भी बता दें कि जिला प्रशासन की ओर से चुस्त-दुरुस्त व्यवस्था के दरमियान शहर के जामा मस्जिद के इमाम मो.मुस्तकीम की अगुवाई में स्थानीय ईदगाह में उपस्थित समस्त अकीदतमंदों ने ईद की नमाज अदा की | इमाम ने ईदगाह में सुबह की नमाज से पहले हर मुसलमान का फर्ज बताया कि वह बेकसों को दान(जकात) दें | इस अवसर पर डॉ.मधेपुरी द्वारा बेसहारा लोगों को भी दान देते देखा गया तथा यह कहते सुना भी गया कि 1 महीने के रोजा से हमदर्दी, प्रेम-मोहब्बत, नैतिक पवित्रता एवं आचरण सौंदर्य का विकास होता है |

सम्बंधित खबरें