कांग्रेस में शामिल हुए शत्रुघ्न, पटना साहिब से लड़ेंगे चुनाव

भाजपा के ‘शत्रु’ ने आखिरकार कांग्रेस का दामन थाम ही लिया। संयोग देखिए कि आज ही भाजपा का स्थापना दिवस भी है और आज ही के दिन पार्टी के संघर्ष से लेकर उसके शिखर तक साथ रहे बिहारी बाबू ने अपनी राह अलग कर ली। दिल्ली में आज कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी उन्हें कांग्रेस की सदस्यता दिलाई। इसके साथ ही कांग्रेस ने घोषणा की है कि पार्टी के टिकट से शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब संसदीय सीट से इस बार पार्टी के उम्मीदवार होंगे। यहां उनका मुकाबला भाजपा के दिग्गज नेता व केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से होना है।

कांग्रेस में शामिल होने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहित और केसी वेणुगोपाल उनके साथ मौजूद रहे। इस दौरान उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को 39वीं स्थापना दिवस की बधाई देते हुए कहा कि आज के दिन पार्टी छोड़ना मेरे लिए दुखद है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर हमला बोलते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने भाजपा को वन मैन शो और टू मैन आर्मी करार दिया। उन्होंने कहा कि पहले भाजपा में विरोधियों को दुश्मन नहीं समझा जाता था। लेकिन अब इस पार्टी में विरोधियों को दुश्मन के तौर पर देखा जाता है। इस दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर भी भाजपा पर सवाल दागा। जीएसटी को तो उन्होंने विश्व का सबसे बड़ा घोटाला करार दिया।

गौरतलब है कि शत्रुघ्न सिन्हा पर पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगता रहा है। वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के कामकाज की आलोचना करते रहे हैं और दोनों पर देश को तानाशाह की तरह चलाने का आरोप लगाते रहे हैं। वे पार्टी में रहने के बावजूद विपक्ष की रैलियों को भी संबोधित करते रहे हैं। शत्रुघ्न सिन्हा कहते रहे हैं कि अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में ‘लोकशाही’ थी, जबकि मोदी सरकार में ‘तानाशाही’ है।

बता दें कि पिछले दिनों शत्रुघ्न सिन्हा ने रांची जाकर राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद और पटना में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से भी मुलाकात की थी, जिसके बाद उनके आरजेडी में शामिल होने की अटकलें लगायी जा रही थीं। लेकिन, आज सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए वे कांग्रेस के हो गए।

 

सम्बंधित खबरें