नेहरू युवा केन्द्र द्वारा सांस्कृतिक विरासत बचाने हेतु सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित

नेहरू युवा केंद्र के समन्वयक अजय कुमार गुप्ता की टीम द्वारा बीपी मंडल नगर भवन, शहीद चुल्हाय मार्ग मधेपुरा में एक दिवसीय जिला स्तरीय सांस्कृतिक कार्यक्रम का भव्य आयोजन किया गया। इस केन्द्र द्वारा ग्रामीण प्रतिभाओं को हमेशा बेहतर मंच मुहैया कराया जाता है ताकि ग्रामीण युवजनों को राष्ट्रीय स्तर तक जाने का मार्ग प्रशस्त होता रहे।

बता दें कि कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन बीएन मंडल विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति डॉ.फारुख अली, विश्वविद्यालय के पूर्व कुलानुशासक व परीक्षा नियंत्रक डॉ.भूपेन्द्र नारायण मधेपुरी, प्रो.रीता कुमारी, प्रो.संजय परमार सहित समन्वयक आदि ने सम्मिलित रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।

Chief Guest Dr.Madhepuri distributing Certificates & Momentos to the winners.
Chief Guest Dr.Madhepuri distributing Certificates & Momentos to the winners.

अपने संबोधन में प्रतिकुलपति डॉ.फारूक अली ने कहा कि हमारी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को आगे बढ़ाने में युवाओं को बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेना होगा। कोसी क्षेत्र के ग्रामीण इलाके में प्रतिभा की कमी नहीं है और नेहरू युवा केन्द्र प्रतिभाओं को सर्वोत्कृष्ट मंच देने का काम कर रहा है।

समाजसेवी साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी ने कहा कि हमारी लोक संस्कृति लुप्त होने के कगार पर है और हम पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव में आकर वहाँ के गायन-वादन को सुनने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं जिससे हमारी संस्कृति को खतरा उत्पन्न होता नजर आने लगा है। डॉ.मधेपुरी ने युवा कलाकारों एवं उनके गुरुओं से अनुरोध किया कि वे मेहनत के साथ रियाज कर कराकर अपनी कला को राष्ट्रीय स्तर तक ले जाने की कोशिश में लगे रहें। प्रो.रीता कुमारी एवं प्रो.संजय परमार ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रमों की सराहना की जानी चाहिए।

कार्यक्रम में तबला, एकल गीत, लोक नृत्य, समूह लोकगीत, शास्त्रीय संगीत, हस्तकला आदि विधाओं की प्रस्तुति दी गई। सभी प्रतिभागियों को प्रथम-द्वितीय-तृतीय पुरस्कारों एवं प्रमाणपत्रों से नवाजा गया। कार्यक्रम में रोशन कुमार, जय कुमार, रोहित कुमार, सत्य नारायण यादव, पूजा कुमारी, आलोक, अमित, अभिषेक, विजय, वीरू आदि का सहयोग रहा। मंच संचालन आशीष कुमार सत्यार्थी ने किया।

सम्बंधित खबरें