शिक्षकों को कौन देंगे राष्ट्रपति पुरस्कार- महामहिम श्री राम….. या श्रीमती मीरा….

संसार के कुछ देशों में शिक्षकों को विशेष सम्मान देने के लिए शिक्षक दिवस का आयोजन किया जाता है | कहीं छुट्टी रहती है तो कहीं कार्य करते हुए इसे मनाते हैं | भारत में विश्व गुरु डॉ.सर्वपल्ली राधाकृष्णन, जो उपराष्ट्रपति एवं राष्ट्रपति रह चुके हैं, के जन्मदिन 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के रुप में मनाया जाता है |

इस बार राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार-2016 के तहत बिहार के 6 जिले से आठ समर्पित शिक्षक-शिक्षिकाओं का चयन किया गया है जिन्हें शिक्षक दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति भवन में नव चयनित महामहिम राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित किया जायेगा |

बता दें कि हमारे वर्तमान राष्ट्रपति महामहिम राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल इसी माह के 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है | अब देखना है कि इस ब्रह्माण्ड में पुरुषों के प्रतीक श्री राम…. की मर्यादा की जीत होती है या फिर प्रकृति स्वरूपा श्रीमती मीरा……. के समर्पण व सेवा की | जो भी प्रथम नागरिक बनकर 25 जुलाई को उस रायसीना पहाड़ी के 400 एकड़ में फैले और 5 एकड़ भूमि पर निर्मित 345 कमरों वाले राष्ट्रपति भवन में प्रवेश करेंगे- उन्हीं के कर कमलों द्वारा इन कर्मयोगी शिक्षक-शिक्षिकाओं को राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा |

अब जानिए कि जिन आठों बिहारी शिक्षकों को राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया जाना है उनमें तीन केवल पूर्णिया जिले से हैं | पुरस्कृत होने वाले शिक्षक हैं- (1)डॉ.सविता रंजन- सहायक शिक्षिका, प्लस टू ब्रजबिहारी स्मारक हाई स्कूल, पूर्णिया (2) डॉ.उत्तिमा केसरी, प्रभारी प्रधानाध्यापिका, मध्य विद्यालय, सदर प्रखंड मुख्यालय (पूर्व) पूर्णिया (3) श्री विजेन्द्र कुमार सिंह, प्रभारी प्रधानाध्यापक, आदर्श मध्य विद्यालय बरहरा कोठी, पूर्णिया (4) श्री नंदकिशोर सिंह, प्रधानाध्यापक, फिलिप हाई स्कूल, बरियारपुर, मुंगेर (5) श्री रामशंकर गिरि, प्रभारी प्रधानाध्यापक, राजकीय कृत विपिन मध्य विद्यालय, बेतिया (6) श्री हेमंत कुमार, सहायक शिक्षक, मध्य विद्यालय, मधुबनी (7) श्री ज्ञानवर्धन कंठ, प्राध्यापक, मध्य विद्यालय, डुमरा-सीतामढ़ी (8) श्री काशीनाथ त्रिपाठी, प्रभारी प्रधानाध्यापक, बलदेव अयोध्या अतिम प्रवेशिका +2 स्कूल, पूर्वी चंपारण |

अंत में बता दें कि इन आठों समर्पित शिक्षकों को शिक्षक दिवस के दिन राष्ट्रपति भवन में नवचयनित महामहिम के कर कमलों द्वारा पुरस्कार स्वरूप एक सिल्वर मेडल, ₹50,000 (पचास हजार) का चेक एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जायगा | इन आठों शिक्षक-शिक्षिकाओं के साथ-साथ राष्ट्रपति द्वारा पुरस्कृत होनेवाले सभी शिक्षकों को मधेपुरा अबतक की अग्रिम बधाई !

सम्बंधित खबरें