आरजेडी स्थापना दिवस में लालू ने बताया भाजपा को हराने का फार्मूला

बुधवार को राष्ट्रीय जनता दल ने धूमधाम से अपना 21वां स्थापना दिवस मनाया। पटना के वीरचंद पटेल पथ स्थित पार्टी कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने भाजपा पर जमकर हमला बोलते हुए उसे 2019 में हराने का ‘फार्मूला’ भी बताया। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव, वित्त मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह, प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे समेत पार्टी के अधिकांश मंत्री, सांसद और विधायक मौजूद रहे।

अपने संबोधन में लालू ने कहा कि देश में अघोषित आपातकाल जैसे हालात हैं। ऐसे में उन्होंने समान विचारधारा के लोगों को एक साथ आने की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि “हर कोई अपनी विचारधारा के अनुरूप काम कर रहा है, चाहे वह मायावतीजी हों, अखिलेश हों, रॉबर्ट वाड्रा जी हों, प्रियंका गांधी जी हों, ममता दी हों या केजरीवाल हों, लालू यादव हों या उनका परिवार। बीजेपी हमें तोड़ना चाहती है, क्योंकि वह हमारी शक्ति के बारे में जानती है। और बीजेपी यह भी जानती है कि अगर सभी विपक्षी पार्टियां एक हो जाती हैं तो बीजेपी का 2019 में सरकार बनाने का सपना, सपना ही रह जाएगा।”

आरजेडी सुप्रीमो ने उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के एक होने को 2019 में भाजपा का गेम ओवर करने का फार्मूला बताया। बकौल लालू, अगर यूपी में पूर्व सीएम अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती एक हो जाते हैं तो बीजेपी के अगला चुनाव जीतने का कोई चांस नहीं होगा।

राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद पर सवाल उठाते हुए लालू ने कहा कि वे दलित नहीं हैं। वे कोली जाति से आते हैं और गुजरात में कोली जाति ओबीसी है। दरअसल वहां चुनाव है इसलिए उन्हें उम्मीदवार बनाया गया है, ताकि गुजरात में 18 प्रतिशत कोलियों का मत हासिल किया जा सके। लालू ने कहा कि वे सिद्धांत से समझौता नहीं करते हैं। अगर कांग्रेस भी एनडीए उम्मीदवार का समर्थन करती, इसके बावजूद वो उन्हें समर्थन नहीं करते।

इस मौके पर तेजस्वी ने सुशील मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि कुछ लोग अखबार में बने रहने के लिए हम पर आरोप लगाते हैं। हमारी तीन पीढियां साजिश की शिकार हुई हैं। माता-पिता के बाद अब हमलोग और हमारी बहनों के बच्चे सीबीआई रेड देख रहे हैं। हम डरने वाले नहीं हैं। 27 अगस्त को पता चलेगा कि कौन बेईमान है। बता दें कि इसी दिन आरजेडी ने अपनी महत्वाकांक्षी ‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ रैली’ आयोजित की है।

सम्बंधित खबरें