त्रिदिवसीय राजकीय सिंहेश्वर महोत्सव को नृत्य एवं गीत ने बनाया यादगार

महाशिवरात्रि के अवसर पर त्रिदिवसीय राजकीय सिंहेश्वर महोत्सव के अंतिम दिन लखनऊ घराने के पंडित बिरजू महाराज की शिष्या एवं बिहार सरकार के 35वीं बैच की प्रशासनिक पदाधिकारी तथा लोकायुक्त कार्यालय में सचिव के पद पर कार्यरत नीलम चौधरी को कथक नृत्य सहयोगी सुब्रतो पंडित सहित अर्धनारेश्वर कार्यक्रम के साथ मंच पर देखते ही नृत्य व गीत प्रेमी दर्शकों ने तालियों की गड़गड़ाहट से उनका भरपूर स्वागत किया। इस मंच पर लगातार कई गीतों पर नृत्य की प्रस्तुति देने वाली नीलम चौधरी बिहार की पहली महिला नृत्यांगना हैं जो खजुराहो महोत्सव में भी भाग ले चुकी है। श्रीमती चौधरी द्वारा आंखों से शब्दों को कहने की खास शैली पर मंत्रमुग्ध होने के फलस्वरूप बीएन मंडल विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक, कुलसचिव व कुलानुशासक रह चुके डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी एवं संगीतकार रोशन कुमार आदि ने उनसे ग्रीन रूम में मिलकर यहां के बच्चों को कथक की तालीम देने की चर्चा की तथा उनकी टीम में शामिल सुब्रत पंडित, शाहिद आलम, मो.सारिक, संदीप सरकार, संस्कृति सुमन व बिपाशा सेन की सराहना की।

Samajsevi Dr.Bhupendra Madhepuri discussing with famous Kathak dancer Neelam Choudhary regarding the prospect & promotion of Kathak Dance in Kosi Region after her performance in Singheshwar Mahotsav.
Samajsevi Dr.Bhupendra Madhepuri discussing with famous Kathak dancer Neelam Choudhary regarding the prospect & promotion of Kathak Dance in Kosi Region after her performance at Singheshwar Mahotsav.

बता दें कि महोत्सव में जहाँ बॉलीवुड के नामचीन प्लेबैक सिंगर शब्बीर कुमार की एक झलक पाने के लिए युवा वर्ग दिवाने हो गये तथा दर्जनों गाने गाकर शब्बीर ने दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया वहीं स्थानीय कलाकारों में वकील वाका अपने साथियों के साथ रक्त चरित्र ग्रुप डांस का जलवा बिखेरने एवं तालियां बटोरने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ा।

जहाँ एक ओर स्थानीय ओंकार नाथ संगीत संस्थान मधेपुरा के सना यादव के साथियों ने अपनी प्रस्तुति से दर्शकों को बांधे रखा वहीं दूसरी ओर ग्रीन फील्ड इंटरनेशनल स्कूल सिंहेश्वर के बच्चों ने “जाट-जटिन” लोक नृत्य पर कार्यक्रम प्रस्तुत कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

यह भी बता दें कि जहाँ सृजन दर्पण मधेपुरा के अध्यक्ष-सचिव ओम प्रकाश एवं विकास कुमार की टीम के सत्यम-निखिल-सुमन, राखी-रूपा-पुष्पा आदि ने “शिव होली खेले मसाने में” नृत्य नाटिका की बेहतरीन प्रस्तुति दी वहीं असम के बिहू कलाकारों की बांसुरी की धुन एवं ढोलक की थाप ने दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया।

चलते-चलते यह भी कि जिले के स्थापित कलाकारों में संजीव कुमार, प्रो.अरुण कुमार बच्चन, रोशन कुमार, मुकेश कुमार, शशिप्रभा जायसवाल एवं शिवाली ने सुगम संगीत तथा डॉ.रवि रंजन ने जहां शानदार तबला वादन प्रस्तुत किया वहीं चंदा रानी ने एकल नृत्य की बेहतरीन प्रस्तुति दी।

जहाँ इस राजकीय महोत्सव की सारी व्यवस्था डीएम नवदीप शुक्ला एवं एसपी संजय कुमार व एसडीएम वृंदा लाल की देखरेख में पीआरओ सह NDC रजनीश कुमार राय ने की वहीं मंच संचालन सौरभ सिंह एवं मनीषा ने किया। सहयोगी बने रहे- डॉ.रवि रंजन, रौशन एवं स्काउट प्रशिक्षक जयकृष्ण यादव…… आदि।

सम्बंधित खबरें