दौरम मधेपुरा स्टेशन का प्लेटफार्म न.- 01 मात्र 90 दिनों में होगा ऊँचा

सर्वाधिक कष्ट सहा बड़ी रेल लाईन बनने के बाद दौरम मधेपुरा स्टेशन पर यात्रियों ने। सोचिए तो सही अपनी बूढ़ी माँ को गोद में लेकर बेटा ट्रेन के डब्बे में नहीं चढ़ा पाया तो दूसरे दिन घर से कुर्सी लेकर आया….. कोई-कोई संपन्न परिवार के लोग तो पूर्णिया जाने के लिए अपनी गाड़ी से मधेपुरा से सहरसा जाकर उसी गाड़ी पर सवार होते और फिर मधेपुरा होकर ही गुजरते जिसे वे दो दिनों तक प्रयास करने के बावजूद भी शरीर वजनी होने के कारण नहीं चढ़ पाये थे।

बता दें कि 26 फरवरी से दौरम मधेपुरा स्टेशन के प्लेटफार्म को साढ़े तीन फीट ऊंचा करने का काम विधिवत रूप से प्रारंभ कर दिया गया है। रेलवे अधिकारी आई ओ डब्लू प्रकाश कुमार ने मधेपुरा अबतक को बताया कि दोनों ओर के प्लेटफार्म को ऊंचा करने के साथ-साथ प्लेटफार्म की लंबाई भी बढ़ाना है। बताया गया कि इस कार्य में लगभग साढ़े तीन करोड़ रुपये खर्च किए जायेंगे और 90 दिनों में बनकर तैयार हो जाएगा। यह भी कहा गया कि प्लेटफार्म की लंबाई लगभग दोगुनी करने की योजना है यानी प्लेटफार्म नंबर-1 वर्तमान में 395 मीटर है उसे बढ़ाकर लगभग 600 मीटर किया जायगा। फिलहाल प्लेट ढाला जा रहा है। लगे हाथ मिट्टी भरवा कर प्लेटफॉर्म ढलाई कार्य भी पूरा कर लिया जाएगा।

आगे प्रकाश कुमार(IOW) ने यह भी कहा कि प्लेटफार्म ऊंचा करने के साथ ही उसके शेड की लंबाई भी बढ़ाई जा रही है। प्लेटफार्म नंबर एक की वर्तमान लंबाई 175 मीटर को बढ़ाकर 250 मीटर किया जाएगा तब यात्रियों को ट्रेन में सवार होने में सुविधा होगी और काफी सहूलियत भी होगी।

चलते-चलते यह भी बता दें कि दौरम मधेपुरा स्टेशन के इन कार्यो को पूरा करने का कार्य भारतीय रेलवे ने  “आसीत इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड” को आवंटित किया गया है। 26 फरवरी से कार्य एजेंसी ने प्लेटफार्म न.- एक को ऊंचा करने का काम भी प्रारंभ कर दिया है। कार्य को होते देख स्टेशन के आस-पास के लोग एवं यात्रियों में प्रसन्नता की लहर दौड़ने लगी है।

सम्बंधित खबरें