कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने से मधेपुरा जिले को फिलहाल राहत

जिले के बिहारीगंज की कोरोना पॉजिटिव महिला के साथ ऑटो से पटना आईजीआईएमएस गए पति, पुत्र, पुत्री एवं ऑटो ड्राइवर की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है। मोहनपुर पंचायत की उस महिला के अत्यंत करीब रहने वाले चारो लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आने से सबको ऐसा लगने लगा है कि जिले में उस महिला से कोरोना संक्रमण का खतरा न्यूनतम हो सकता है। फिलहाल इस नेगेटिव रिपोर्ट के आने से मधेपुरा जिला वासियों ने राहत की सांस ली है।

बता दें कि जिले के डीएम नवदीप शुक्ला, एडीएम उपेन्द्र कुमार एवं जनसंपर्क पदाधिकारी रजनीश राय आदि द्वारा पॉजिटिव महिला के परिवार के 28 लोग, महिला के सिंहेश्वर में रहने वाली दो रिश्तेदार तथा उदाकिशुनगंज हॉस्पिटल में इलाज करने वाले तीन चिकित्सक एवं चिकित्सा कर्मियों का सैंपल लिया गया और उसकी जांच कराई गई। कुल 45 लोगों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने की सूचना प्राप्त होने पर लोग जिला प्रशासन की मुस्तैदी पर साधुवाद तथा स्वास्थ्य कर्मियों को धन्यवाद देने से बाज नहीं आ रहे हैं।

चलते-चलते यह भी कि डोर-टू-डोर सर्वे को लेकर प्रशिक्षण का आयोजन किया जा रहा है। संदिग्ध लोगों की बढ़ती संख्या को लेकर 3 पूर्व से कार्यरत, 3 क्वॉरेंटाइन सेंटर के अतिरिक्त एक अल्पसंख्यक बालिका छात्रावास (टीपी कॉलेज) को नया सेंटर बनाया गया है। इन सेंटरों में बाहर से आने वाले छात्रों-मजदूरों आदि सभी संदिग्धों को 14 दिनों तक रखने के बाद ही छोड़ा जाएगा। फिलहाल पूर्व के तीनों सेंटर में 152 कोरोना के संदिग्ध मरीज मौजूद हैं जिन्हें सरकार की ओर से सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है।

 

सम्बंधित खबरें