हर्षोल्लास पूर्वक मना 38वाँ मधेपुरा जिला स्थापना वर्षगांठ समारोह

जिलेभर में 9 मई को सुबह से देर शाम तक धूमधाम से प्रखंड से लेकर जिला मुख्यालय तक मनाया गया 38वाँ जिला स्थापना वर्षगाँठ | जहाँ एक ओर स्कूली बच्चे-बच्चियों द्वारा स्कूली ड्रम दल के साथ प्रभात फेरी निकाला गया वहीं दूसरी ओर बीएनएमयू गेट से बीएन मंडल स्टेडियम तक युवाओं द्वारा विकास दौड़ का आयोजन किया गया | इतना ही नहीं, बी.पी.मंडल इंडोर स्टेडियम में जहाँ एक ओर हॉल में शतरंज खिलाड़ियों के बीच प्रतियोगिता आयोजित की गई वहीं दूसरी ओर बड़े हॉल में बालिका कबड्डी खेल का आयोजन जिलासचिव अरुण कुमार की देखरेख में आयोजित किया गया |

बता दें कि इस बालिका कबड्डी का उद्घाटन डीडीसी विनोद कुमार सिंह द्वारा एडीएम उपेन्द्र कुमार, समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी, जिला नजारत उपसमाहर्ता रजनीश कुमार राय आदि की उपस्थिति में नारियल फोड़ कर किया गया | मौके पर उपविकास आयुक्त एवं एडीएम उपेन्द्र कुमार ने जिले में विकास की बुनियाद की चर्चा करते हुए कहा कि जिले के सभी क्षेत्रों में बालक-बालिकाएं एकजुट होकर विकास में अपनी भागीदारी दें |

इस अवसर पर डॉ.मधेपुरी ने पत्रकार बंधुओं से जिला स्थापना (9 मई 1981) के उद्घाटन कार्यक्रमों का आंखों देखा हाल बताते हुए यही कहा कि जिला का उद्घाटन तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ.जगन्नाथ मिश्र के कर कमलों द्वारा रासबिहारी विद्यालय के ऐतिहासिक मैदान में किया गया था | अध्यक्षता कर रहे थे पूर्व मुख्यमंत्री बी.पी.मंडल एवं मुख्य अतिथि थे कुलपति डॉ.के.के.मंडल | आयोजन के संयोजक थे प्राचार्य डॉ.महावीर प्रसाद यादव एवं सहसंयोजक तत्कालीन नगरपालिका उपाध्यक्ष प्रो.भूपेन्द्र नारायण मधेपुरी | सीएम डॉ.मिश्र ने युवा डीएम एसपी सेठ एवं एसपी अभयानंद के बीच खड़े होकर मधेपुरा वासियों से यही कहा कि आपका भरपूर सहयोग मिलेगा तो ये दोनों आपको बेहतर प्रशासन व सुरक्षा प्रदान करेंगे |

बकौल डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी…… जिला कार्यालय सर्वप्रथम ‘जीवन सदन’ की दो कोठरियों में ही लगभग एक साल चला था और जीवन सदन के बगल के एक भाड़े के घर में एसपी कार्यालय वर्षो चला | बाद में डीएम कार्यालय सदर अनुमंडल कार्यालय परिसर में स्थानांतरित हुआ | उन दिनों डीएम निवास हुआ करता वर्तमान बीएनएमयू के कुलपति कार्यालय में जो उन दिनों कोसी प्रोजेक्ट का इंस्पेक्शन बंगलो था और एसपी निवास हुआ करता वर्तमान डाक बंगला परिसर, शहीद चुल्हाय मार्ग पर | वर्ष 1989 से अबतक वर्तमान समाहरणालय परिसर में जिले के दोनों आलाधिकारी डीएम व एसपी का कार्यालय क्रियाशील है….. जिसे प्रतिवर्ष स्थापना दिवस पर रंग-रोगन कर रंग-बिरंगी रोशनीयुक्त झालरों से सजाया जाता है….. प्रखंड कार्यालयों से लेकर एसडीएम व अन्य कार्यालयों को भी |

यह भी जानिए कि स्टेडियम में बच्चे व बुजुर्गों के लिए विभिन्न खेलों का भी आयोजन किया गया था | 5:00 बजे से 10:00 बजे रात तक स्थानीय किरण पब्लिक, हॉली क्रॉस, साउथ प्वाइंट, वाका ग्रुप, रंगकर्मी विकास के सृजन दर्पण की टीम सहित प्रो.रीता कुमारी, शशि प्रभा जयसवाल, शिवाली, तनुजा, कीर्ति एवं रोशन-रंजन जैसे मंजे हुए कलाकारों तथा बाहर से आये भागलपुर के नामदार कलाकारों की स्वर लहरियों ने दर्शकों को देर रात तक बांधे रखा व खूब सबों ने तालियाँ बटोरी |

चलते-चलते यह भी कि कबड्डी में जहां हाली क्रॉस व मलिया मध्य विद्यालय की बालिका विजेता बनी वहीं शतरंज में सुदर्शन-विशाल-सोनल व चंदा-रक्षा-जयश्री | विकास दौड़ में रंजीत-सूरज-जयकृष्ण अव्वल आये और पुरस्कृत किये गये | जहाँ विकास दौड़ को हरी-झंडी दिखाकर रवाना किया प्रोवीसी डॉ.फारूक अली व डीडीसी विनोद कुमार सिंह वहीं प्रभातफेरी को हरी झंडी दिखाकर विदा किया डीडीसी , एडीएम आदि |

पूरे कार्यक्रमों में लाइफ लाईन बनकर संचालित करते रहने वाले स्काउट एंड गाइड के आयुक्त जयकृष्ण यादव, खेल गुरु संत कुमार, कबड्डी सचिव अरुण कुमार, शशिप्रभा जायसवाल, डॉ.रंजन एवं एनडीसी रजनीश कुमार राय की पूरी टीम को दर्शकों की ओर से साधुवाद दिया गया |

सम्बंधित खबरें