राहुल के नेतृत्व को तैयार कांग्रेस

जैसी कि उम्मीद थी, कांग्रेस अध्यक्ष पद पर राहुल गांधी की ताजपोशी का दिन तय हो गया। सोमवार सुबह सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के सांगठनिक चुनावों और राहुल के अध्यक्ष पद पर ताजपोशी को लेकर चर्चा हुई। बैठक के ठीक बाद अध्यक्ष पद के लिए चुनाव की विधिवत घोषणा कर दी गई।

बता दें कि अध्यक्ष पद के लिए अधिसूचना 1 दिसंबर को जारी होगी, जबकि 11 दिसंबर नाम वापसी का आखिरी दिन होगा। अगर राहुल के अलावा कोई और उम्मीदवार हुआ तो 16 दिसंबर को मतदान होगा और वोटों की गिनती 19 दिसंबर को होगी। ऐसे में राहुल के अध्यक्ष बनने का ऐलान 19 दिसंबर को होगा। हालांकि राजनीति के थोड़े जानकार भी जानते हैं कि राहुल की उम्मीदवारी को कोई चुनौती नहीं मिलने जा रही और वे 11 दिसंबर को ही कांग्रेस अध्यक्ष बन जाएंगे।

गौरतलब है इस चुनावी प्रक्रिया से पहले ही तमाम राज्यों में कांग्रेस के सदस्यों का चयन करने के लिए मतदान हो चुका है। लगभग सभी राज्यों ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी का नाम सर्वसम्मति से पारित किया है। उधर कार्यसमिति में भी सबने एक स्वर से राहुल के नेतृत्व में आस्था जताई है। कांग्रेस महासचिव अंबिका सोनी ने कहा कि गुजरात में चुनावी प्रचार की सफलता का श्रेय और नोटबंदी और जीएसटी के मुद्दे पर विपक्ष की सफल अगुवाई का श्रेय कांग्रेस उपाध्यक्ष को जाता है।

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के शब्द भी कुछ ऐसे ही थे। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने आगे बढ़कर अगुवाई की है और वे बहुत ही क्षमतावान नेता हैं। आजाद ने आगे कहा कि ये कुछ ही दिनों की बात है, जब पार्टी को नया अध्यक्ष मिल जाएगा और राहुल आगे बढ़कर पार्टी का नेतृत्व करेंगे। लोकसभा में पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी स्पष्ट शब्दों में कहा कि हम सब पार्टी अध्यक्ष के तौर पर राहुल गांधी के नेतृत्व के लिए तैयार हैं।

सम्बंधित खबरें