बिहार वासियों के लिए एक सुखद अनुभूति है ‘न्यूटन’…….!!

क्या आप जानते हैं कि फिल्म ‘न्यूटन’ के ‘आस्कर अवार्ड’ हेतु नामित होने से सम्पूर्ण बिहार क्यों आह्लादित है ? क्योंकि, बिहार का लाल जिसने किया है कमाल- वह इसी फिल्म का अभिनेता पंकज त्रिपाठी है और वह पंकज है पटना रंगमंच की उपज ! वह पंकज बिहार के गोपालगंज जिले का मूल निवासी भी है |

बता दें कि नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा (एन एस डी) की डिग्री लेने के बाद पिछले एक दशक से मुम्बई की फ़िल्मी दुनिया के सुनहले रंगमंच पर अपनी दक्षता एवं अभिनय की बारीकियों से पंकज ने एक बड़ी लकीर खींची है…….. तथा दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के चुनावी पृष्ठभूमि पर हिन्दी में निर्मित राजनीतिक व्यंग फिल्म ‘न्यूटन’ में मुख्य भूमिका निभाते हुए राजकुमार राव, अंजली पाटिल एवं रघुवीर यादव आदि की महती भूमिका को भी समुचित स्थान दिया है |

यह भी जानिए कि ‘न्यूटन’ आस्कर अवार्ड की ऑफिसियल एंट्री के लिए चुनी गई 50वी. भारतीय और 30वीं हिन्दी फिल्म है | परन्तु, अब तक तीन फ़िल्में ही विदेशी भाषा केटगरी में नामांकन तक पहुँच सकी हैं- वे तीनों है, 1957 में आई फिल्म ‘मदरइंडिया’, 1988 की फिल्म ‘सलामबॉम्बे’ और 2001 की प्रसिद्ध फिल्म ‘लगान’ |

फिल्म ‘न्यूटन’ में मुख्य भूमिका निभानेवाले अभिनेता पंकज त्रिपाठी तीन-चार फिल्मों की अलग-अलग भूमिकाओं में अपनी बड़ी पहचान बना ली है | इतने कम वर्षों की अभिनय यात्रा में वैश्विक मंच मिल जाना ‘पंकज’ के लिए ही नहीं बल्कि बिहार वासियों के लिए भी एक सुखद अनुभूति है |

सम्बंधित खबरें