बेनजीर के पति ने ही कराई थी उनकी हत्या..!

बेनजीर भुट्टो मर्डर केस में भगोड़ा घोषित हो चुके पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने एक सनसनीखेज खुलासा किया है। उनकी मानें तो भुट्टो परिवार के खात्मे के लिए कोई और नहीं बेनजीर के पति आसिफ अली जरदारी जिम्मेदार थे। बकौल मुशर्रफ, जरदारी बेनजीर व मुर्तजा भुट्टो की हत्या में शामिल रहे हैं। मुशर्रफ के मुताबिक, जब भी कोई हत्या होती है तो पहले यह देखा जाना जरूरी है कि इसका सबसे अधिक फायदा किसे होगा। उनके अनुसार बेनजीर की हत्या से सबसे अधिक फायदा पीपुल्स पार्टी ऑफ पाकिस्तान के नेता और उनके पति आसिफ अली जरदारी को हुआ।

गौरतलब है कि पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के मर्डर केस को लेकर अभी हाल ही में परवेज मुशर्रफ को भगोड़ा करार दिया गया है। ऐसे में अपनी सफाई (चाहे वो पूरा सच हो, आंशिक सच हो या फिर झूठ हो) देने के लिए मुशर्रफ ने सोशल मीडिया को अपना जरिया चुना। उन्होंने जरदारी के संबंध में तमाम बातें अपने फेसबुक पेज पर डाले गए एक विडियो में कहीं।

इस विडियो में खुद को बेगुनाह ठहराते हुए मुशर्रफ ने कहा कि इस मामले में मुझे सबकुछ खोना पड़ा। मैं सत्ता में था और इस हत्याकांड ने मेरी सरकार को कठिन परिस्थितियों में ला खड़ा किया। उन्होंने आगे कहा, केवल एक ही शख्स था जिसे बेनजीर की हत्या से केवल और केवल फायदा होना था और वह शख्स आसिफ अली जरदारी थे।

मुशर्रफ ने जरदारी को कटघरे में खड़ा करते हुए सवाल किया है कि वे पांच सालों तक सत्ता में थे, फिर भी उन्होंने इस मामले की जांच जैसी होनी चाहिए थी, नहीं कराई। ऐसा इसलिए कि वह स्वयं बेनजीर हत्याकांड में शामिल थे। मुशर्रफ के अनुसार सबूतों से साफ था कि बैतुल्ला मसूद और उसके लोग इस हत्याकांड में शामिल थे पर उन्हें ऐसा करने को किसने कहा था। मुशर्रफ ने कहा, वह शख्स मैं नहीं हो सकता क्योंकि वह ग्रुप मुझसे और मैं उनसे नफरत करता था।

बहरहाल, मुशर्रफ के आरोप सच हों तो जरदारी के लिहाज से और झूठ हों तो मुशर्रफ के लिहाज से, राजनीति के घिनौने चेहरे से हमें दोनों ही हाल में रू-ब-रू कराते हैं। संबंध, संवेदना, सिद्धांत, सच्चाई – क्या सियासत के आगे इनका सचमुच कोई अस्तित्व नहीं?

मधेपुरा अबतक के लिए डॉ. ए. दीप

सम्बंधित खबरें