मधेपुरा सदर अस्पताल को सर्वाधिक आवश्यकता किन चीजों की है ?

मधेपुरा सदर अस्पताल में असैनिक शल्य चिकित्सक-सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ.शैलेन्द्र कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को अपराहन 3:00 बजे से पीसी एंड पीएनडीटी के तहत गठित 9 सदस्यीय सलाहकार समिति की बैठक सिविल सर्जन कार्यालय के सभा कक्ष में आयोजित की गयी जिसमें लगभग सभी सदस्यों ने अपनी उपस्थिति दर्ज की। सलाहकार समिति की प्रथम बैठक थी जिसमें सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी एवं महिलाओं के बीच लोकप्रिय उर्मिला अग्रवाल सहित चिकित्सक सदस्य डॉ.सच्चिदानंद यादव, डॉ.विपिन कुमार गुप्ता , डॉ.दिनेश प्रसाद गुप्ता, डॉ.रंजना कुमारी सहित जीपी अब्दुल कलाम एडवोकेट व जिला जन संपर्क पदाधिकारी उपस्थित हुए। सर्वप्रथम उपस्थित सदस्यों का परिचय किया गया।

आगे अल्ट्रासाउंड निबंधन हेतु सदस्यों के समक्ष कार्यालय के वरिष्ठ चिकित्सीय कर्मी दीपक कुमार द्वारा दो आवेदन उपस्थापित किया गया- (1) सदर अस्पताल मधेपुरा की ओर से एवं (2) यूनिक अल्ट्रासाउंड सेंटर, कारू-किन्नू काम्पलैक्स , भूपेन्द्र चौक, मधेपुरा। सदस्यों द्वारा विहित शर्तों की जांच की गई और एक रेडियोलॉजिस्ट एवं 25,000 निबंधन शुल्क जमा होने के साथ संतुष्ट होने पर सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि यूनिक अल्ट्रासाउंड सेंटर का निबंधन किया जा सकता है।

बता दें कि इस अवसर पर समाजसेवी सदस्य डॉ.मधेपुरी द्वारा पूछे गये सवाल के जवाब में यह जानकारी दी गई कि जिला भर में पूर्व से कुल 33 अल्ट्रासाउंड निबंधित हो चुका है जिसमें लगभग 25 क्रियाशील है। ये दोनों स्थापित होने से मरीजों को सुविधाएं मिलेंगी।

चलते-चलते यह कि डॉ.मधेपुरी द्वारा यह जिज्ञासा किये जाने पर कि मधेपुरा सदर अस्पताल को सर्वाधिक आवश्यकता किन चीजों की है के जवाब में जानकारी दी गई कि एक्स-रे मशीन की सख्त जरूरत है। साथ ही यह भी कहा गया कि ब्लड बैंक तो क्रियाशील है परंतु आईसीयू निवर्तमान जिलाधिकारी मो.सोहैल द्वारा चालू किया गया था, परन्तु कालांतर में विशेषज्ञों के नहीं होने के कारण बंद पड़ा है। सभी सदस्यों ने एक साथ यही कहा कि इस ओर जिला प्रशासन का ध्यान भी आकृष्ट किया जाना अपेक्षित होगा।

सम्बंधित खबरें