विश्व चैंपियन हीमा दास असम में डीएसपी बनी

एशियाई खेलों में रजत पदक विजेता एवं स्टार फर्राटा धाविका हीमा दास को असम के मुख्यमंत्री सर्वदानंद सोनोवाल ने डीएसपी के लिए नियुक्ति-पत्र सौंपा। आयोजित समारोह में पुलिस महानिदेशक सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी तथा प्रदेश सरकार के शीर्ष पदाधिकारी मौजूद थे। अपने संबोधन में हीमा ने कहा कि वह खुदऔर उसकी मां भी आरंभ से ही पुलिस अधिकारी बनने का सपना देखती आई थी, जो आज पूरी हुई। उन्होंने कहा कि मुझे सब कुछ खेलों की वजह से ही मिला है।

डीएसपी हीमा ने अंत में यही कहा- मैं प्रदेश में खेल की बेहतरी के लिए काम करूंगी तथा असम को हरियाणा की तरह बेहतरीन प्रदर्शन करने वाला राज्य बनाने की भरपूर कोशिश करूंगी…… अपने कैरियर को ऊंचाई प्रदान करने की कोशिश भी करती रहूंगी।

चलते-चलते यह भी कि भारत सरकार नई शिक्षा नीति में खेल को अनिवार्य करने जा रही है। बकौल प्रधानमंत्री मोदी- खेल ऐसा क्षेत्र बन गया है जो आज की दुनिया में देश की छवि के साथ-साथ देश की शक्ति का परिचय कराता है। खेल अब पाठ्यक्रम का अनिवार्य हिस्सा होने जा रहा है….. आप खेल के मैदान में अकेले नहीं होते बल्कि 130 करोड़ देशवासी आपके साथ होते हैं। आपके खेल से दुनिया में भारत को पहचान मिलती है। अब प्रत्येक जिले में “खेलो इंडिया” केंद्र बनेगा और जम्मू-कश्मीर बनेगा शीत खेलों का गढ़…।

अंत में समाजसेवी-शिक्षाविद डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी ने  खेल के प्रति रुझान को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी एवं असम के मुख्यमंत्री सर्वदानंद सोनोवाल को बधाई देते हुए कहा कि जब दो टीमें मैदान में उतरती है तो कोई जीत को दोहराना सिखती है और जो टीम हार जाती है वह नई राह खोजना सिखती है।

सम्बंधित खबरें