कोरोना के टीकाकरण को लेकर बिहार सरकार पूरी तरह तैयार

केंद्र सरकार द्वारा तय गाइडलाइन के आधार पर सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना के टीकाकरण के लिए बिहार तैयार है। केंद्रीय गाइडलाइन के आधार पर बिहार सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है। पांच छह महीने में टीकाकरण कर दिया जाएगा। ये बातें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मीडिया द्वारा पूछे जाने पर कहा।

बकौल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्वास्थ्य कर्मियों एवं डॉक्टरों को पहले चरण में टीका लगाया जाएगा। उसके बाद प्रशासन एवं जनप्रतिनिधियों का टीकाकरण होगा। फिर 50 वर्ष से अधिक उम्र वाले नर-नारियों को टीकाकरण में प्राथमिकता देनी है।

मुख्यमंत्री ने स्वयं टीकाकरण हेतु दवाओं को रखने की जगह से लेकर टीकाकरण हेतु दवाओं को किस तरह से ले जाया जाएगा आदि सारी चीजों की मानीटरिंग की है तथा एक-एक चीज का बेहतर ख्याल भी रखा है। जनहित में बेहतर निगरानी का राज यही है कि कोरोना का मामला थोड़ा कम होने पर वे जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम को पुनः आरंभ करेंगे।

चलते-चलते यह भी बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि 13 जनवरी के बाद हम किसी भी दिन टीकाकरण की शुरुआत करने की पूरी तरह से तैयारी कर ली है। टीकाकरण शुरू करने के लिए तारीख पर अंतिम फैसला सरकार लेगी, परंतु यह है कि स्वास्थ्य  सुरक्षा एवं सफाई कर्मियों को टीकाकरण हेतु सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी। जहां 2 जनवरी को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा पूरे देश में टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया जा चुका है वहीं 3 जनवरी को ड्रग कंट्रोल ऑफ इंडिया द्वारा कोवैक्सीन और  कोविशील्ड के आपात इस्तेमाल की इजाजत भी दे दी गई है। भारत में 4 प्राथमिक वैक्सीन स्टोर कोलकाता, चेन्नई, मुंबई व करनाल में बनाए गए हैं।

 

सम्बंधित खबरें