Voting at Madhepura

इसे कहते हैं मजबूत लोकतंत्र के लिए मतदान के प्रति समर्पण

लोकसभा चुनाव को लेकर तीसरे चरण में कोसी क्षेत्र के मधेपुरा एवं सुपौल के मतदाताओं द्वारा मतदान के प्रति अटूट समर्पण देखने को मिला। मतदाताओं में मतदान के प्रति अजीबोगरीब जोश देखा गया….. कोई चचरी पर तो कोई नाव से नदी पार कर बूथ पर गए…… तो कोई स्ट्रेचर या ट्रैक्टर पर सवार होकर मतदान केंद्र तक पहुंच गए….।

यह भी बता दें कि सुपौल के एक परिवार के सर्वाधिक वृद्धजन के निधन हो जाने के बावजूद शेष सभी जन चल दिए पहले करने मतदान…… और बाद में गए श्मशान। उन लोगों ने तो “पहले मतदान फिर जलपान” जैसे स्लोगन को भी मात दे दिया।

जानिए कि अबतक 22 राज्यों के 302 लोकसभा सीटों पर चुनाव संपन्न हो चुका है। तीसरे फेज में जहां सबसे अधिक मतदान 80.74% के करीब असम में हुआ वहीं सबसे कम 12.86% वोटिंग जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग सीट पर हुई। और तो और, जहां कोसी क्षेत्र के मधेपुरा व सुपौल क्षेत्र में हल्की-फुल्की बारिश के बीच सुहावने मौसम में मतदाताओं ने अपने मताधिकार का निर्भीकतापूर्वक जमकर प्रयोग किया वहीं केरल में वोटिंग के दौरान बेशुमार गर्मी से 8 मतदाताओं की मौत हो गई तथा 4 पोलिंग अफसर बेहोश हो गए। देश के विकास के लिए वोटरों ने खूब बहाया अपना पसीना।

और तो और…. जहां गुजरात के जूनागढ़ लोकसभा सीट के बाणेज गाँव में मात्र 1 मतदाता के लिए एक मतदान केंद्र बनाया गया वहीं छत्तीसगढ़ के शेरडांड गांव में बनाए गए एक बूथ पर मात्र 4 मतदाताओं ने आधे घंटे में ही 100% मतदान का रिकॉर्ड बना लिया। इन दोनों बूथों पर वोट डालते हुए देखने के लिए देश ही नहीं विदेश से भी पत्रकार पहुचे थे… लाइव कवरेज भी किया गया जिसे सारा संसार देखता रहा।

यह भी बता दें कि पिछले लोकसभा चुनाव की तरह इस बार भी मतदान करने में महिलाएं पुरुषों से आगे रहीं जबकि पहली बार वोट डालने वाली युवा मतदाताओं ने मधेपुरा अबतक को बताया कि धर्म, जाति एवं क्षेत्रीयता से ऊपर उठकर देश की मजबूती के लिए उन्होंने मतदान किया है। सुहावने मौसम में वे 6:00 बजे प्रातः से ही वोटिंग के लिए पंक्ति में लग गई जबकि कहीं-कहीं ईवीएम में खराबी के चलते घंटे-डेढ़ घंटे तक मतदान प्रभावित रहा। उनकी शिकायत पर डीएम सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी नवदीप शुक्ला द्वारा जानकारी मिलते ही मधेपुरा प्रखंड के बूथ नंबर 121 पर उसे बदल दिया गया। मतदान शुरू होने के दौरान ही 26 बैलट यूनिट एवं 22 वी वी पेट में खराबी आने के कारण बदला गया। कुल मिलाकर मतदान शांतिपूर्ण रहा। अपनी-अपनी जीत के दावे करने वाले तीनों प्रत्याशियों सहित मतदाताओं, चुनाव कर्मियों एवं जिला प्रशासन के शीर्ष पदाधिकारी डीएम नवदीप शुक्ला एवं एसपी संजय कुमार को मधेपुरा अबतक की ओर से कोटि-कोटि साधुवाद।

सम्बंधित खबरें