जदयू ने तेज की अल्पसंख्यकों को दल से जोड़ने की मुहिम

जदयू ने अल्पसंख्यकों को दल से जोड़ने और उनका विश्वास हासिल करने की मुहिम तेज करते हुए गुरुवार को सीवान, भागलपुर, रोहतास, पूर्वी चंपारण, पूर्णिया, बेगूसराय, दरभंगा एवं मुंगेर में जदयू अल्पसंख्यक जिला कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया। सीवान में जदयू के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) व संसदीय दल के नेता श्री आरसीपी सिंह तथा मुंगेर में बिहार सरकार के मंत्री श्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह एवं मंत्री श्री शैलेश कुमार सिंह उपस्थित रहे। वहीं भागलपुर में श्रीमती कहकशां परवीन, सांसद, राज्यसभा, रोहतास में श्री गुलाम रसूल बलियावी, राष्ट्रीय महासचिव सह विधानपार्षद, पूर्वी चंपारण में मो. खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद, मंत्री, अल्पसंख्यक कल्याण एवं गन्ना उद्योग, पूर्णिया में श्री नौशाद आलम, विधायक एवं पूर्व मंत्री, खगड़िया में श्री गुलाम गौस, पूर्व विधानपार्षद, दरभंगा में प्रो. युनूस हकीम, प्रदेश उपाध्यक्ष एवं मुंगेर में मो. सलाम, प्रदेश अध्यक्ष, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ने मौजूदगी दर्ज की।
श्री आरसीपी सिंह ने सीवान में आयोजित सम्मेलन में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने अल्पसंख्यकों के विकास की नई इबारत लिखी है। उन्हें वोट की नहीं हमेशा वोटरों की चिन्ता रही है। आज उनके नेतृत्व में बिहार सरकार ने अल्पसंख्यक समाज के सर्वांगीण विकास के लिए जितने कार्य किए हैं उतने पहले कभी नहीं हुए। 2005-06 की तुलना में अल्पसंख्यक कल्याण का बजट आज सौ गुना से भी ज्यादा है।
मुंगेर की सभा में श्री ललन सिंह ने बिहार सरकार द्वारा अल्पसंख्यक कल्याण के लिए चलाई जा रही योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि श्री नीतीश कुमार ने अल्पसंख्यकों को समाज की मुख्यधारा में लाने का काम किया है। वहीं श्री शैलेश कुमार सिंह ने कहा कि श्री नीतीश कुमार की सरकार के कारण आज मुसलमानों के लिए आगे बढ़ने के जितने अवसर हैं, उतने पहले कभी नहीं थे।
श्रीमती कहकशां परवीन, श्री गुलाम रसूल बलियावी, मो. खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद, श्री नौशाद आलम, श्री गुलाम गौस, मो. युनूस हकीम एवं मो. सलाम ने अपनी-अपनी सभाओं में जोर देकर कहा कि बिहार की महान जनता अब फिरकापरस्तों की बातों में आने वाली नहीं है। उन्हें सही और गलत का फर्क पता है। 2019 और 2020 के चुनाव में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

सम्बंधित खबरें