Brahma Kumari New building at Sukh Shanti Bhawan

मधेपुरा में ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय नए वर्ष में नवनिर्मित “सुख शांति भवन” में किया प्रवेश

मधेपुरा में वर्षों से ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के बैनर तले संचालिका राजयोगिनी रंजू दीदी द्वारा आध्यात्मिकता का पाठ पूर्व प्रमुख विनय वर्धन उर्फ खोखा बाबू व उनके भाई विजय वर्धन के जयपाल पट्टी मोड़ स्थित आवासीय प्रभाग में लोगों को तन्मयता के साथ पढ़ाया जाता रहा। आज नए वर्ष 2021 के 10 जनवरी को वार्ड नंबर- 25 में तुनियाही रोड स्थित राधाकृष्ण मंदिर के समीप नवनिर्मित “सुख शांति भवन” के निर्माता व दानदाता राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड के उप महाप्रबंधक (साहूगढ़ निवासी) नरेश कुमार द्वारा सहृदय होकर भव्य स्नेहमिलन व आध्यात्मिक प्रवचन समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में भारत एवं नेपाल के विभिन्न इलाकों से प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की संचालिकाएं उपस्थित हुईं तथा उन्होंने आत्मा, परमात्मा एवं भौतिक विश्व के बीच परस्पर संबंध की समझ बढ़ाने हेतु विस्तार से उद्गार व्यक्त किया।

समारोह की अध्यक्षता करते हुए नेपाल राजविराज क्षेत्र की मुख्य संचालिका राजयोगिनी भगवती दीदी, वर्षों से सीमावर्ती क्षेत्र प्रभारी राजयोगिनी रंजू दीदी एवं सेवा केंद्र संचालिका बबीता दीदी ने आध्यात्मिक क्रियाकलापों की विस्तार से जानकारियां दी। इस अवसर पर उपस्थित तमाम अतिथियों को संस्था की ओर से पाग, प्रतीक व पुष्पादि देकर सम्मानित किया गया।

Samajsevi-Shikshavid Dr.Bhupendra Madhepuri addressing the inaugural function of Brahma Kumari Ishwariya Vishwavidyalaya at Newly built "Sukh Shanti Bhawan" Madhepura.
Samajsevi-Shikshavid Dr.Bhupendra Madhepuri addressing the inaugural function of Brahma Kumari Ishwariya Vishwavidyalaya at Newly built “Sukh Shanti Bhawan” Madhepura.

समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि के रूप में विस्तार से उद्गार व्यक्त करते हुए सदर विधायक व पूर्व मंत्री प्रो.चन्द्रशेखर ने जहां कहा कि यह ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय विश्व के 144 देशों में मानव कल्याण की दिशा में आध्यात्मिकता के फैलाव का सराहनीय प्रयास करता आ रहा है वहीं मुख्य वक्ता के रूप में भारतरत्न डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम के करीबी रहे समाजसेवी डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी ने मानव शरीर को कंप्यूटर और मानव मन को कंप्यूटर का सॉफ्टवेयर बताते हुए कहा कि यह विश्वविद्यालय मानव मन की असीमित शक्तियों के विस्तार की विधियां सिखाता है और उसे अपडेट रखता है।

प्रजापिता लेखराज कृपलानी के राह के राही उप महाप्रबंधक नरेश कुमार ने जहां कहा कि यह ईश्वरीय विश्वविद्यालय विश्व में व्याप्त धर्मों के सार को आत्मसात कर उन्हें मानव कल्याण की दिशा में उपयोग करने वाली एक संस्था है, वहीं समाज सेविका रागिनी रानी ने कहा कि जीवन से थके हुए लोग इसे अपनाकर शांति और उन्नति प्राप्त कर सकते हैं।

अंत में ब्रह्मा कुमारी संस्थान के अंतरराष्ट्रीय मुख्यालय माउंट आबू राजस्थान के प्रमुख देवान, अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय के पीस ऑफ माइंड टेलीविजन से राजयोगिनी शिखा दीदी, नेपाल के ब्रह्मा कुमार दीपक भाई, पटना से आई राजयोगिनी संगीता दीदी सहित नेपाल ऑयल निगम के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर हरि प्रसाद सिंह उर्फ हरि बाबू ने आध्यात्मिकता की बौछार कर श्रोताओं को घंटों सराबोर करते रहे।

मौके पर ब्रह्मा कुमार व कुमारियाँ- जगदीश, शशि, शालु, जैन, हेमा, अनीता, कौशल्या, नीरा, माया, कमला सहित पतंजलि योग शिक्षक डॉ.एनके निराला, प्रो.अजय, प्रो.सतीश, अशोक यदुवंशी, प्रो.रामाशंकर, रविकांत आदि मौजूद रहे एवं सहयोग करते रहे। उपस्थित श्रद्धालुओं द्वारा दाता नरेश कुमार सहित उनके स्मृतिशेष पिता देव आनंद, माताश्री माया देवी, पुत्र नीलेश व पुत्री राधिका के इस महादान हेतु महाअभिनंदन किया गया। समस्त कार्यक्रम का संचालन ब्रह्माकुमार भाई किशोर ने किया।

सम्बंधित खबरें