अंबेडकर की 131वीं जयंती पर बोले डॉ.मधेपुरी- अपने बच्चों को शिक्षा, संस्कार और संघर्ष की ताकत दें

नौ भाषाओं के ज्ञाता और भारतीय संविधान के निर्माता डॉ.भीमराव अंबेडकर की 131वी जयंती समाजसेवी-शिक्षाविद् प्रो.(डॉ.)भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी ने कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कारण अपने वृंदावन निवास पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मनाई। डॉ.मधेपुरी ने ऑनलाइन जयंती का आयोजन कर कहा कि बाबा साहेब आंबेडकर ने बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ एकजुटता एवं संघर्ष का मंत्र दिया था। उन्होंने कहा कि सभी अपने बच्चों को शिक्षा, संस्कार और संघर्ष करने की ताकत दें।

बता दें कि जिले के विभिन्न स्थानों पर भिन्न-भिन्न संस्थानों में विविध प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन कर लोगों ने डॉ.भीमराव अंबेडकर को याद किया और श्रद्धा सुमन अर्पित किया। किसी ने कहा कि डॉ.अंबेडकर ने सदा हक के लिए आवाज उठाई तो किसी ने उनके आदर्शों को जन-जन तक पहुंचाने की बात कही।

चलते-चलते यह भी कि विभिन्न राजनीतिक युवा संगठनों ने जहां अंबेडकर के बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया, वहीं कुछ संगठनों द्वारा बाबासाहेब को मानवतावाद का पुजारी कहां गया। पंचायत-प्रखंड से लेकर जिला और प्रांतीय एवं राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर तक बाबा साहब भीमराव अंबेडकर को लोगों ने याद किया।

 

सम्बंधित खबरें