स्वतंत्रता दिवस समारोह हेतु झल्लूबाबू सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता की एडीएम श्री शैव ने

मधेपुरा जिला मुख्यालय के झल्लूबाबू सभागार में भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह के आयोजन की अध्यक्षता एडीएम सह जिला शिकायत निवारण पदाधिकारी शिव कुमार शैव ने की। इस अवसर पर सदर एसडीओ नीरज कुमार, एडीपीओ अजय नारायण यादव एवं अन्य पदाधिकारियों सहित वरिष्ठ स्थानीय नागरिक  डॉ. ए. के. मंडल, समाज सेवी-शिक्षाविद प्रो. (डॉ.) भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी, विदूषी डॉ. शांति यादव वो मो. शौकत अली आदि अन्य विभागीय पदाधिकारी/‐ प्रभारीगण मौजूद थे।

अध्यक्षता करते हुए एडीएम श्री शैव ने सरकार द्वारा कोरोना के मद्देनजर स्वतंत्रता समारोह के आयोजन के बाबत दिये गये निर्देशों की विस्तृत चर्चा करते हुए कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग को बरकरार रखने हेतु आम जनता के अलाबे स्वतंत्रता सेनानियों एवं वरिष्ठ नागरिकों को आमंत्रित नहीं किया जाय । झाकियों का प्रदर्शन 7-8 तक और पैरेड में जवानों की संख्या कम करने के लिए एनसीसी एवं स्काउट को सम्मिलित नहीं किया जाए। प्रभातफेरी तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी बन्द रखा गया।  एडीएम श्री शैव ने सफाई रखने एवं कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों के पालन पर जोर देते हुए नागरिकों से सुझाव आमंत्रित किया।

मौके पर समाजसेवी – शिक्षाविद डॉ. मधेपुरी ने अपनी ओर से सुझाव देते हुए यही कहा कि भारत के लाल किला पर प्रधानमंत्री या फिर पटना के गांधी मैदान में  मुख्यमंत्री द्वारा ध्वजारोहण किये जाने वाले ध्वज-स्तम्म के ऊपर कोई पताका लगा डोरी बँधा नहीं होता है , जबकि जिला के समाहरणालय में विगत वर्ष स्वतंत्रता दिवस पर स्तम्म के  ऊपरी टॉप पर डोरी-पताका बँधा हुआ था, उसे हटाने का निर्देश दिया जाना राष्ट्रीय ध्वज का सम्मान होगा । झंडा के ऊपर कुछ नहीं रहने से  ही तो…..झंडा ऊँचा रहे हमारा …..होता है। अंत में धन्यवाद के साथ सभा की कार्यवाही समाप्त की गई।

 

सम्बंधित खबरें