दुनिया के सौ से अधिक देशों में पहुंच गया डेल्टा वेरिएंट

भारत में सबसे पहले मिला कोरोना का डेल्टा वेरिएंट अब तक लगभग आधी दुनिया में यानि 100 से अधिक देशों में पहुंच चुका है।

बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने जारी अपडेट में कहा है कि डेल्टा वेरिएंट को डबल म्युटेंट भी कहा जाता है क्योंकि इसमें दो म्युटेंट होते हैं।

जानिए कि यह अल्फा वेरिएंट की तुलना में 55% अधिक पारगम्य है, जो शुरुआत में यूनाइटेड किंगडम में पाया गया था। वैश्विक स्तर पर यह प्रमुख तनाव बनता जा रहा है। हालांकि, अब तक इस वेरिएंट की पहचान करने की कैपेसिटी अत्यंत लिमिटेड है।

फिरभी अफ्रीका ने वेरिएंट के कई नए प्रकोपों कीसूचना दी है। पहली बार 2020 के अक्टूबर में यह पता चला था कि डेल्टा वेरिएंट में कई स्पाइक म्युटेशन है।

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने अपील की है कि सितंबर तक दुनिया के प्रत्येक देश की कम से कम 10% आबादी टीकाकरण पूरा कर ले। उन्होंने महामारी को काबू करने एवं अर्थव्यवस्था में नई जान फूंकने के लिए टीकाकरण को सर्वश्रेष्ठ उपाय बताया है।

चलते-चलते यह भी जानिए कि प्रधानमंत्री मोदी ने ऐलान किया है कि भारत कोरोना वायरस से हर हाल में जीतेगा। पीएम ने इस साल स्वास्थ्य क्षेत्र में बजट दोगुना कर दिया है। देश में एम्स की संख्या बढ़ाई जा रही है। देश विकास के नए आयाम भी हासिल करेगा। देशवासियों को चाहिए कि वे सदा “दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी” का पालन करें। उठते-बैठते हर समय पालन करें।

सम्बंधित खबरें