कोरोना का कहर, बरतें सावधानी- डॉ.मनीष

बकौल डॉ.मनीष मंडल अधीक्षक (आईजीआईएमएस) पटना, 32 सैंपल की जांच में 85% यानी 27 संक्रमितों में आॅमिक्रोन तथा 4 लोगों में डेल्टा वेरिएंट मिला है। इनमें पटना के 22 सैंपल थे जिसमें  20 में आॅमिक्रोन और 1 में डेल्टा वेरिएंट की पुष्टि हुई है।

डॉ.मंडल ने बताया कि ये सैंपल यात्रा इतिहास वाले मरीज का है। ये राज्य के बाहर कहीं घूमने या इलाज कराने गए थे। इन सैंपल की जांच आईजीआईएमएस के माइक्रोबायोलॉजी लैब में हुई है। रविवार को प्रथम 32 सैंपल की रिपोर्ट आई है।

चलते-चलते यह भी कि पटना समेत बिहार के 7 जिलों में आॅमिक्रोन की पुष्टि हो चुकी है। बिहार में कोरोना का आॅमिक्रोन वेरिएंट तेजी से पांव पसार रहा है। डेल्टा से 10 गुना ज्यादा संक्रमण। संक्रमितों में दक्षिण अफ्रीका वाले वेरिएंट ज्यादा हैं। इसलिए इसे सुपर स्प्रेडर कहा जाता है।

अतः विशेषज्ञों का कहना है कि इसके बचाव के लिए दो गज दूरी, मास्क है जरूरी का कड़ाई से पालन करना जरूरी है। यह भी कि भीड़ में जाने से बचने, अच्छी गुणवत्ता वाले मास्क पहने या डबल मास्क पहनने के साथ-साथ साबुन से बीच-बीच में हाथ की सफाई करने में कभी भी कोताही नहीं करनी चाहिए।

सम्बंधित खबरें