अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर बोले डॉ.मधेपुरी

समाजसेवी-साहित्यकार व फिजिक्स के प्रोफेसर डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर अपने निवास “वृंदावन” में मौजूद बच्चों से कहा कि योग एक विज्ञान है। योग न केवल हमारे विवेक को बल्कि शारीरिक और मानसिक पीड़ा व परेशानियों को भी कम करता है और सभी प्रकार के संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है। जब भी हमारा शारीरिक व मानसिक संतुलन बिगड़ता है तो हम किसी न किसी रोग से ग्रसित हो जाते हैं। हम नियमित रूप से योग करते रहेंगे तो हमारा शारीरिक एवं मानसिक संतुलन हमेशा बना रहेगा और हम निरोगी बने रहेंगे।

डॉ.मधेपुरी ने यह भी कहा कि योग सबके लिए है। किसी खास धर्म और खास उम्र के लिए नहीं। जैसे ऑक्सीजन सबों के लिए जरूरी है वैसे ही योग हर उम्र के लोगों के लिए जरूरी है। योग प्राणवायु है। योग स्वस्थ जीवन की कुंजी है।

उन्होंने कहा कि एक घंटे योग और बारह घंटे कर्म योग जीवन को पुरुषार्थी बनाता है, समाज को मजबूत बनाता है और देश को आगे ले जाता है। मानवता की रक्षा के लिए योग आवश्यक है। योग प्रत्येक मनुष्य के जीवन को अनुशासित करता है।

डॉ.मधेपुरी ने यह कामना व्यक्त की कि मधेपुरा के लोग योगमय जीवन जीएं। अनुशासित जीवन जीते हुए शांतिपूर्ण तरीके से हक के लिए सत्याग्रह करें ताकि जिला प्रशासन को प्रकृति प्रदत्त बाढ़ की विभीषिका से जूझने का भरपूर अवसर प्राप्त हो सके।

सम्बंधित खबरें