Dr.APJ Abdul Kalam Punyatithi at Madhepura.

ताजिंदगी संपूर्ण भारतीय बने रहे भारतरत्न डॉ.कलाम- डॉ.मधेपुरी

मिसाइलमैन  भारतरत्न डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम की 7वीं पुण्यतिथि टीपी कॉलेज के परिसर में प्रधानाचार्य प्रो.(डॉ.)केपी यादव की अध्यक्षता में समारोह पूर्वक मनाई गई।

बता दें कि कार्यक्रम “जो करेंगे मधेपुरा को गौरवान्वित, डॉ.मधेपुरी करेंगे उन्हें सम्मानित” का उद्घाटन करते हुए बीएन मंडल विश्वविद्यालय के विद्वान कुलपति प्रो.(डॉ.)आरकेपी रमण ने कहा कि हम कलाम के आदर्शो को जीवन में अपनाएं तभी यह आयोजन सफल होगा, सार्थक होगा। उन्होंने कहा कि कर्तव्यनिष्ठ मनुष्य को किसी के आगे झुकना नहीं पड़ता है। वह हमेशा कलाम की तरह सदैव आगे बढ़ता रहता है।

जानिए कि डॉ.कलाम के अत्यंत करीबी रह चुके मधेपुरा के भीष्म पितामह डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी ने विस्तार से रामेश्वरम से राष्ट्रपति भवन तक की यात्रा का वर्णन करते हुए तथा संस्मरणों की झड़ी लगाते हुए कहा कि डॉ कलाम अहंकार शूून्य महामानव के रूप में ताजिंदगी संपूर्ण भारतीय बने रहे। उन्होंने कहा कि डॉ.कलाम सरीखे संवेदनशील व्यक्तित्व विरले ही होते हैं।

Samajsevi Dr.Bhupendra Narayan Yadav Madhepuri felicitating Shivani Singh & Dr.Jawahar Paswan under the banner of "Jo Karega Madhepura Ko Gauravanvit, Dr.Madhepuri karange Use Samannit." on the occasion of Bharatratna Dr.APJ Abdul Kalam's Punyatithi at TP College Madhepura.
Samajsevi Dr.Bhupendra Narayan Yadav Madhepuri felicitating Shivani Singh & Dr.Jawahar Paswan under the banner of “Jo Karenge Madhepura Ko Gauravanvit, Dr.Madhepuri karange Unhen Samannit.” on the occasion of Bharatratna Dr.APJ Abdul Kalam’s Punyatithi at TP College Madhepura.

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व कुलसचिव डॉ.कपिलदेव प्रसाद ने डॉ.कलाम की सादगी और कर्तव्यनिष्ठता को प्रेरणादाई बताया। कार्यक्रम के तहत हक की लड़ाई लड़ने वाले सिंडीकेट सदस्य डॉ.जवाहर पासवान एवं महिलाओं को शिक्षित करने वाली शिवानी सिंह को टीएनबी ट्रस्ट की ओर से डॉ.मधेपुरी द्वारा सम्मानित किया गया। दोनों कर्मवीरों को पाग, अंगवस्त्रम, बुके, मोमेंटो के अतिरिक्त ट्रस्ट द्वारा 1101 ₹ की राशि भी सम्मान में समर्पित की गई। इन दोनों कर्मवीरों प्रो.(डॉ.)जवाहर पासवान एवं शिक्षिका शिवानी सिंह ने अपने-अपने सामाजिक कर्मों की विस्तृत जानकारी देते हुए युवाओं को खूब प्रेरित किया।

बता दें कि अध्यक्षीय संबोधन में प्रधानाचार्य प्रो.(डॉ.) केपी यादव ने डॉ.कलाम की कर्तव्यिनष्ठा की चर्चा करते हुए माननीय कुलपति के कर्तव्यों के प्रति निष्ठा की भी सराहना की और दोनों कर्मवीरों को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया। स्नातकोत्तर जंतु विभागाध्यक्ष प्रो.(डॉ.)अरुण कुमार ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुए डॉ.कलाम को नमन किया।

मौके पर विश्वविद्यालय जनसंपर्क पदाधिकारी डॉ.सुधांशु शेखर, कुलपति के निजी सहायक शंभू नारायण यादव, डॉ.किशोर कुमार सिंह, खेल गुरु संत कुमार, अशोक कुमार अकेला, डॉ.संजय परमार, रंगकर्मी विकास कुमार और अंतरराष्ट्रीय उद्घोषक पृथ्वीराज यदुवंशी सहित उपस्थित जनों ने कुलपति, मुख्य अतिथि, अध्यक्ष एवं डॉ.मधेपुरी के बाद बारी-बारी से कलाम साहब के तैल चित्र पर पुष्पांजलि की। आरंभ में कार्यक्रम का उद्घाटन कुलपति डॉ.आरकेपी रमण ने दीप प्रज्वलित कर किया। आरंभ से अंत तक उद्घोषक यदुवंशी ने श्रोताओं से खूब तालियां बटोरी। अंत में अध्यक्ष की सहमति से यदुवंशी ने कार्यक्रम समापन की घोषणा की।

सम्बंधित खबरें