covid 19 victims kis in orphanage

कोरोना के कारण माता-पिता को खोने वाले अनाथ बच्चों का चाइल्ड केयर रखेगा ख्याल

बिहार सरकार के कल्याण विभाग के निदेशक-सह-मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी ने सभी जिले के जिलाधिकारियों को कोविड महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों की सुरक्षा हेतु आदेश जारी किया है।

नीतीश सरकार के समाज कल्याण विभाग ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर से उत्पन्न परिस्थितियों को लेकर बेहतर स्वास्थ सुविधाएं उपलब्ध कराने हेतु गंभीरता दिखाई है। साथ ही कल्याण विभाग को कहा गया है कि वंचित समूहों को जिला स्तर पर पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध कराने हेतु तैयार रहें। कोरोना संक्रमण की स्थिति में यदि कोई बच्चा अनाथ होता है तो प्रभावित बालक और बालिका को अविलंब ‘चाइल्ड केयर होम’ में रखने हेतु जरूरी व्यवस्था की जाए।

बता दें कि सरकारी स्तर पर जहाँ ऐसी परिस्थितियों में ऐसे अनाथ बच्चों के ट्रैफिकिंग में वृद्धि होने की आशंका पर नियमित अनुश्रवण की आवश्यकता जताई गई है वहीं कोरोना संक्रमित माता-पिता की संतान को पका हुआ भोजन उपलब्ध कराने वाली ‘छत्रछाया’ और ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराने वाले ‘प्रांगण’ जैसी स्वयंसेवी संस्थाएं देश के प्रत्येक राज्य के प्रायः जिलों में क्रियाशील हैं। ऐसा करना इसलिए जरूरी है कि आस-पास के लोग भी ऐसे परिवार से दूरी बना लेते हैं। इस प्रकार की स्वयंसेवी संस्थाओं में जितने भी कोरोना वरियर्स समर्पित होकर मानवता की सेवा में लगे हुए हैं, उनके जज्बे को समाजसेवी डॉ.भूपेन्द्र नारायण मधेपुरी  सैल्यूट करते हैं तथा कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का सख्ती से पालन करने हेतु अनुरोध करते हैं।

 

सम्बंधित खबरें