रहटा के मटुकधारी परिसर में श्री कृष्ण कथा से तीन दिनों तक माहौल भक्तिमय रहा

जिले के कुमारखंड प्रखंड अंतर्गत रहटा पंचायत के वर्षों मुखिया रहे एवं मधेपुरा जिला के प्रथम जिला परिषद अध्यक्ष रहे मटुकधारी प्रसाद मंडल परिसर में स्मृतिशेष इंजीनियर विनोदानंद यादव व आनंद कुमार उर्फ बबलू की स्मृति में श्री राधा कृष्ण के भव्य मंदिर का निर्माण शेखर कुमार उर्फ बउवा बाबू द्वारा सर्वाधिक मनोयोग पूर्वक किया गया।

Devotees are enjoying Shree Krishna Katha at Rahta.
Devotees are enjoying Shree Krishna Katha at Rahta.

बता दें कि इस अवसर पर मटुकधारी परिसर में तीन दिवसीय श्री कृष्ण कथा महोत्सव का भव्य आयोजन किया गया एवं श्री कृष्ण के जन्म व मयूर नेत्र की झांकी प्रस्तुत की गई। तीन दिनों तक दूर-दूर से आए ग्रामीण नर-नारियों से लेकर हवाई जहाज से उड़ने एवं उड़ाने वालों को ट्रेनिंग देने वाले दिल्ली निवासी संतोष कुमार सरीखे कृष्ण भक्त भी शामिल थे।

इस महोत्सव में श्री कृष्ण कथा प्रवक्ता व अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त बाल व्यास कपिल देव जी महाराज ने वृंदावन धाम से आकर यहां भारी संख्या में उपस्थित भक्तों को अपने कथामृत से आनंद विभोर कर दिया।

जानिए कि इस मौके पर समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी ने अपने संक्षिप्त संबोधन में भक्तों के समक्ष श्री कृष्ण और गुरु नानक के कर्म व पुरुषार्थ की झांकी प्रस्तुत करते हुए अपने अभिन्न मित्र स्मृतिशेष विनोदानंद जी के बाबत यही कहा कि वे सदा वर्तमान में जीते रहे और इस मटुकधारी परिसर को इस प्रकार  संस्कारित किया जिसकी खुशबू सदैव संवेदनशील आत्माएं महसूसती रहेंगी। इस अवसर पर रंगपुरा, जानकीनगर, भागलपुर, पटना के स्वजनों के साथ-साथ डॉ.मधेपुरी, अंगद यादव, हीरेन्द्र मंडल उर्फ पूप्पू जी, किशोर कुमार उर्फ़ महंत जी, ओम, सबलू, गुड्डू सहित मुरलीगंज केपी कॉलेज के वर्तमान व सेवानिवृत्त प्रोफेसर आदि मौजूद थे।

सम्बंधित खबरें