Tag Archives: 100 Year of Champaran Satyagrah

चल पड़े कोटि पग उसी ओर…………

मधेपुरा ; सौ साल पहले चम्पारण (बिहार) की धरती पर मोहनदास…… अकेले आये थे…….. लेकिन चम्पारण ने जब उस मोहन को ‘महात्मा’ बना दिया तो देशवासियों ने महात्मा को हृदय में समा लिया…… और फिर उसी महात्मा गांधी के सत्य-अहिंसा के सम्बल के साथ ‘आजादी’ की खातिर…… चल पड़े कोटि पग उसी ओर……..!

यह भी बता दें कि जहाँ उसी महात्मा के कारण समस्त भारत के स्वतंत्रता सेनानियों के साथ महामहिम राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने पटना के एस.के.मेमोरियल हॉल में आकर यह उद्घोष किया कि- “भारत के युवजनों ! भारतीय होने पर गर्व करें !” वहीं आजादी के बाद ऐसा आयोजन पहली बार करके बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक स्वर्णिम इतिहास रचकर सम्पूर्ण विश्व को यह संदेश दिया कि- “विविधता में एकता ही भारत की पहचान है |”

The Gandhi and Kasturba attired kids of different school ready to attend "Gandhi Yatra" starting from BN Mandal Stadium to Samaharnalaya Gandhi Park via BP Mandal Chowk , Bhupendra Chowk and Thana Chowk etc. under the leadership of DM Md.Sohail and SP Vikas Kumar and others.
The Gandhi and Kasturba attired kids of different school ready to attend “Gandhi Yatra” starting from BN Mandal Stadium to Samaharnalaya Gandhi Park via BP Mandal Chowk , Bhupendra Chowk and Thana Chowk etc. under the leadership of DM Md.Sohail and SP Vikas Kumar and others.

मधेपुरा में तो कई दिनों से बी.एन.मंडल स्टेडियम और भूपेन्द्र कलाभवन दोनों चम्पारण सत्याग्रह की उत्सवधर्मिता में डूबा हुआ है | स्वतंत्रता सेनानियों के सम्मान को अपना सौभाग्य मानने वाले डायनेमिक डीएम मो.सोहैल एवं एसपी विकास कुमार अपनी पूरी टीम सहित गणमान्यों, शिक्षाविदों एवं समाजसेवियों के सहयोग से पूरे जिले को गांधीमय बनाने में लगे हैं | कहीं डीएम, एसपी, एएसपी, एसडीएम, डीपीआरओ, डीईओ…….. सहित गणमान्यों के नेतृत्व में “गांधीयात्रा” निकाली जा रही है तो कहीं स्कूली बच्चों द्वारा गांधी-कस्तूरबा की झांकी निकाली जा रही है | कहीं सर्वधर्म प्रार्थना हो रही है तो कहीं जमीन पर बैठकर गांधी व्याख्यानमाला में शहर के शिक्षाविदों की भागीदारी हो रही है |

बता दें कि जहाँ कला भवन में प्रो. श्यामल किशोर यादव एवं डॉ.मधेपुरी के नेतृत्व में गाँधी व्याख्यान माला में उद्गार व्यक्त करने वाले शिक्षाविदों में होते हैं- प्राचार्य डॉ.एच.एल.एस. जौहरी , प्रो.प्रज्ञा प्रसाद, डॉ.अमोल राय, प्राचार्य डॉ.विश्वनाथ विवेका, प्राथमिक शिक्षक संघ के सचिव वीरेंद्र प्रसाद यादव, डॉ.विनय कुमार चौधरी एवं डॉ.आलोक कुमार वहीं पटना नहीं जा सकने वाले स्वतंत्रता सेनानियों एवं दिवंगत सेनानियों की धर्मपत्नियों को संवेदनशील डीएम मो.सोहैल के नेतृत्व में एसडीएम संजय कुमार निराला की टीम द्वारा माला पहनाकर अंगवस्त्रम व प्रतीक सहित सम्मान किया जाता है | जिला अतिथिगृह में उन्हें भोजनादि कराकर ससम्मान आवश्यकतानुसार सरकारी वाहन से गंतव्य तक पहुंचा दिया जाता है |

फिर बीएन मंडल स्टेडियम में “एक शाम बापू के नाम” सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर डीएम मो.सोहैल, डी.डी.सी.मिथिलेश कुमार, एसडीएम संजय कुमार निराला, प्रो.रवि रंजन,  मो.शौकत अली, एनडीसी मुकेश कुमार आदि ने संयुक्त रुप से किया जिसमें नवाचार मंडल इप्टा जूनियर टीम , हॉली क्रॉस स्कूल, डी.पी.एस., माया विद्या निकेतन के बच्चे-बच्चियों सहित सभी स्थापित कलाकार शशि प्रभा, पुष्पलता, रौशन कुमार आदि ने उत्कृष्ट प्रदर्शनों से मधेपुरा को गाँधीमय बना दिया |

लेकिन गाँधी की तेज चाल भला इतनी जल्दी कैसे रुकेगी- मधेपुरा सदर प्रखंड में मंगलवार को निर्धारित कार्यक्रमानुसार प्रखंड उपप्रमुख जयकांत यादव की अध्यक्षता में शिक्षाविदों की टीम के सदस्यों प्रो.श्यामल किशोर यादव, डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी, डॉ.एच.एल.एस. जौहरी, डॉ.विश्वनाथ विवेका, प्रो.प्रज्ञा प्रसाद, डॉ.विनय कुमार चौधरी एवं डॉ.आलोक कुमार आदि ने विस्तार से विचार व्यक्त करते हुए प्रायः यही कहा कि धार्मिक टकराहट भ्रष्टाचार से उत्पन्न जितनी भी समस्याएं हैं इन तमाम समस्याओं का निदान गाँधी के विचारों में छुपा हुआ है | इसे विस्तार देते हुए डॉ.मधेपुरी ने गांधीवादी विचारधारा के पोषक क्रांतिवीर शिवनंदन प्रसाद मंडल की 126वीं जयंती की चर्चा के साथ श्रद्धांजलि स्वरुप 1934 के भूकंप में क्षत-विछत हुई मानवता की सुधि लेने आये महात्मा गांधी और शिवनंदन बाबू की मुलाकात की भी चर्चा की और कहा कि जाते समय बापू ने सेंट्रल रिलीफ टीम के सभी सदस्यों से इतना ही कहा-

“इसे तुम समाज में व्याप्त छुआछूत जैसे अंधविश्वास एवं पाप का ईश्वरीय दंड ही समझना |”                      

अंत में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रभारी बीडीओ अजीत कुमार, सीओ मिथिलेश कुमार के विमर्शोपरान्त कार्यक्रम पदाधिकारी प्रमोद प्रियदर्शी ने धन्यवाद ज्ञापित किया |

सम्बंधित खबरें


बापू के विचारों को गांवों तक पहुंचायेंगे मधेपुरी- डीएम

मधेपुरा ; आज जहाँ पूरा देश चम्पारण सत्याग्रह के सौ साल पूरे होने पर उत्सव मना रहा है, वहीं हमारा बिहार उत्सवधर्मिता के आनंदातिरेक में डुबकियाँ लगा रहा है | आज देश भर के 2972 स्वतंत्रता सेनानियों को सम्मानित करेंगे एस.के.मेमोरियल हॉल पटना में महामहिम राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार | जो स्वतंत्रता सेनानी नहीं आ पाएंगे उन्हें आज ही घर पर जाकर पदाधिकारीगण सम्मानित करेंगे |

एक ओर जहाँ जिले के डायनेमिक डीएम मो.सोहैल अपने समाहरणालय स्थित बापू की प्रतिमा के समीप एसपी विकास कुमार, डीडीसी मिथिलेश कुमार, एसडीएम संजय कुमार निराला, एएसपी राजेश कुमार, डीपीओआर मो.क्यूम अंसारी, नप के कार्यपालक मनोज कुमार पवन, श्रम अधीक्षक सुबोध कुमार, डॉ.गदाधर पाण्डेय, समाजसेवी डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी सहित अन्य गण्यमान्यों व कर्मियों के साथ “स्वच्छता में ईश्वर के बास” की संकल्पना को साकार करने में लगे दिखाई दे रहे हैं वहीं दूसरी ओर बिहार सरकार के मुखिया नीतीश कुमार भारत को आजादी दिलाने वाले सभी जीवित स्वतंत्रता सेनानियों को पटना के एस.के. मेमोरियल हॉल में गमान्य एवं महामहिम की उपस्थिति में सम्मानित करने जा रहे हैं |

DM Md.Sohail departing AC Coach of Freedom Fighters in presence of DDC Mithilesh Kumar , Dr.Madhepuri , NDC Mukesh Kumar , Lab Superintendent Subodh Kumar , SDM Sanjay Kumar Nirala and others at Samaharnalaya Campus Madhepura.
DM Md.Sohail departing AC Coach of Freedom Fighters in presence of DDC Mithilesh Kumar , Dr.Bhupendra Madhepuri , NDC Mukesh Kumar , Lab Superintendent Subodh Kumar , SDM Sanjay Kumar Nirala and others at Samaharnalaya Campus Madhepura.

बता दें कि मधेपुरा समाहरणालय परिसर में रविवार को सवेरे जब जिले से जाने योग्य सेनानियों को उनके परिजनों के साथ एसी कोच में सारी सुविधाओं, डॉक्टरों सहित एक एम्बुलेंस देकर संवेदनशील जिलाधिकारी मो.सोहैल द्वारा हरी झंडी दिखाने से पूर्व कोच के ड्राइवर को यह कहा जा रहा था – “ये सभी देश के धरोहर हैं….. गाड़ी धीरे चलाना, रोड ब्रेकर पर आहिस्ता पार करना….. जहां रोकने बोले तुरंत रोक देना……. ऐसे भाव के साथ ले जाना जैसे तुम्हारे अपने दादा-दादी या चाचा-चाची ……हों” –  को सुनकर सभी संवेदनशील आत्माओं के धारकों की आंखें कुछ देर के लिए नम हो गईं | डीएम मो.सोहैल ने आगे यह भी कहा कि वापस आने पर सबों को जिला अतिथिगृह में ठहराने और भोजन कराने की समुचित व्यवस्था रहेगी…….  फिर  ससम्मान उन्हें अपने गंतव्य तक पहुंचा दिया जायेगा |

DM Md.Sohail (IAS) discussing with Educationist Dr.Bhupendra Madhepuri regarding arrangement of "Gandhiyan Vyakhyan Mala" in all the 13 blocks of the District Madhepura.
DM Md.Sohail (IAS) discussing with Educationist Dr.Bhupendra Madhepuri regarding arrangement of “Gandhiyan Vyakhyan Mala” in all the 13 blocks of the District Madhepura.

यह भी जानिए कि जिले के डायनेमिक डीएम मो.सोहैल ने लगे हाथ शिक्षाविद समाजसेवी डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी से कहा कि गांधी व्याख्यानमाला के लिए कुछ विद्वान लोगों की टीम बनाएं और स्थानीय कला भवन में 17 अप्रैल को एवं निर्धारित कार्यक्रमानुसार सभी प्रखंडों में भिन्न-भिन्न तिथियों और अलग-अलग महीनों में वहां के बीडीओ, सीओ, प्रमुख व मुखियागणों के सहयोग से गांव के लोगों तक बापू के विचारों को फैलाव दें | डीएम मो.सोहैल ने डॉ.मधेपुरी से यह भी कहा कि आने-जाने व अन्य आवश्यक व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की जायेगी |

सम्बंधित खबरें