पृष्ठ : मधेपुरा अबतक

रसीद के अभाव में अब किसान आत्महत्या करेंगे..!

रजिस्ट्री ऑफिस में हर होज लाखों रुपये निबन्धन शुल्क के रूप में जमा होते हैं। सालाना करोड़ों रुपये का टारगेट सरकार निर्धारित करती है लेकिन खरीद की गई जमीन का दाखिल-खारिज मालगुजारी रसीद के अभाव में पिछले छह महीने से ठप्प है। राजस्व रसीद नहीं कटने से किसानों को कई तरह के कष्ट और नुकसान से गुजरना पड़ रहा है। रसीद के अभाव में किसानों को आपदा नुकसान व खाद-बीज सब्सिडी एवं फसल-बीमा आदि से वंचित रहने की मजबूरी बनी रहती है। किसान क्रेडिट कार्ड तो सपना बनता जा रहा है। स्पेशल मेसेन्जर भी सरकारी तंत्र के पास से खाली हाथ लौट आते हैं तो ऐसी स्थिति में मालगुजारी रसीद के अभाव में क्या अब यहाँ के किसान भी आत्महत्या करेंगे..!

अंचलाधिकारी श्री उदयकृष्ण यादव ने कहा कि कई माह से राजस्व रसीद उपलब्ध नहीं होने पर जिला कार्यालय में पड़े सड़े-गले रसीद से ही फिलहाल काम चलाए जाने का आदेश दिया गया है।

सम्बंधित खबरें


सांसद की बेटी, सड़क किनारे बेच रही हैं आम

आम बेचने वाली यह महिला आम नहीं है। लगातार आठ बार सांसद व लोकसभा के डिप्टी स्पीकर रह चुके कड़िया मुंडा की बेटी हैं। नाम है चंद्रावती सारू, ये पेशे से शिक्षिका हैं। बगीचे में जरूरत से ज्यादा आम हुए हैं तो उन्हें सड़क किनारे बैठकर बेचने में यह बात आड़े नहीं आई कि वे झारखंड के बड़े नेता की बेटी हैं।
आठ बार सांसद, चार बार केंद्रीय मंत्री और दो बार विधायक रहे कड़िया का जीवन आज के राजनेताओं के लिए एक मिसाल है। व्यक्तिगत जीवन बिल्कुल वैसा ही जैसा अब से चार दशक पहले था, जब वह पहली बार सांसद चुने गए थे। झारखंड के आदिवासियों के संसद में अकेले प्रतिनिधि। आज भी गांव आते हैं तो वैसे ही खेतों में हल-कुदाल चलाते हैं, तालाब में नहाते हैं। नक्सली हिंसा के लिए देश के सबसे खतरनाक खूंटी जिले में मामूली सुरक्षा के साथ घूमते हैं।

सम्बंधित खबरें


शिक्षा-शिक्षक के गिरते स्तर पर विराम लगे – कुलपति

“वर्तमान शिक्षा व्यवस्था और भविष्य” विषय पर मधेपुरा महाविद्यालय में शिव-राजेश्वरी क्लब द्वारा आयोजित विचार-गोष्ठी का उद्घाटन करते हुए भू.ना. मंडल वि.वि. के माननीय कुलपति डॉ. बिनोद कुमार ने कहा कि शिक्षा की इस दशा के लिए छात्र, शिक्षक एवं अभिवावक के साथ-साथ सामाजिक एवं राजनीतिक हालात भी जिम्मेवार है। इतिहास से प्रेरणा लेकर हम भविष्य को बेहतर बना सकेंगे तथा शिक्षा के गिरते स्तर पर विराम लगा सकेंगे।

इस अवसर पर माननीय कुलपति महोदय को उनके प्रशंसनीय कार्यों के लिए शिव-राजेश्वरी क्लब के सचिव श्री हर्षवर्द्धन सिंह राठौर एवं अध्यक्षता कर रहे प्रो. निखिल सिंह द्वारा सम्मानित किया गया।

मुख्य अतिथि प्रतिकुलपति डॉ. जयप्रकाश ना. झा, मुख्य वक्ता अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो. रामनरेश सिंह सहित पूर्व कुलसचिव प्रो. शच्चीन्द्र, पूर्व विधायक श्री संजीव झा एवं श्री सुरेन्द्र यादव, स्नातकोत्तर हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ. विनय कुमार चौधरी आदि ने अपने विचार व्यक्त किये। वक्ताओं की राय थी कि शिक्षा-व्यवस्था का गिरता स्तर एक दिन का परिणाम नहीं है, फिर भी शिक्षक जब निर्लोभ होकर विद्यादान करेंगे तभी भविष्य में उजाला लाया जा सकेगा।

विशेष उपस्थिति में प्रमुख थे – श्री सुरेश कुमार भूषण, श्री संजय परमार, श्री आनन्द, श्री संदीप शांडिल्य, श्री चन्द्रिका यादव, कुलपति के निजी सचिव श्री शंभू नारायण यादव, सुश्री पायल, सुश्री सोनी राज आदि। अन्त में राष्ट्रीय खो-खो खिलाड़ी सुश्री खुशबू कुमारी को क्लब द्वारा गोद लिया गया। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. जवाहर पासवान ने किया। मंच संचालन क्लब के सचिव श्री हर्षवर्द्धन सिंह राठौर नेकिया।

सम्बंधित खबरें


श्रीमद् भागवत ज्ञान यज्ञ का एकदिवसीय आयोजन

हाल ही में बी.एन. मंडल स्टेडियम में नौ दिवसीय भागवत ज्ञान यज्ञ सम्पन्न हुआ ही था कि पुनः श्रीकृष्ण मंदिर परिसर, गौशाला, मधेपुरा में एकदिवसीय भागवत ज्ञान यज्ञ का आयोजन 15 जून को हुआ। कथाव्यास विद्वान, अध्यात्म ज्ञाता एवं भागवत कथा के मर्मज्ञ पूज्य गुरु श्री संजयजी महाराज की अमृतवाणी के रसास्वादन हेतु श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जुटी। इस भव्य आयोजन की सफलता में श्रीकृष्ण मंदिर के अध्यक्ष अवकाशप्राप्त प्रधानाध्यापक श्री परमेश्वरी प्रसाद यादव जी की अहम भूमिका रही।

सम्बंधित खबरें


भूकम्प के बाद बाढ़ की त्रासदी का अंदेशा

48 घंटे बाद मानसून के आने की सूचना दी जा रही है। इस बीच नेपाल और आसपास के इलाके में किसी के पैर चाहे जिस भी कारण थरथराएं लगता यही है कि कहीं भूकम्प तो नहीं हो रहा है। सामने देखिये तो ऐसा लगता है कि कोसी ने मानसून की आहट पाकर अंगराई लेनी शुरू कर दी हो। कल से ही कोसी के इलाके के गांवों में अचानक पानी का दबाव बढ़ने लगा है। सरायगढ़ प्रखंड के कई गांवों में पानी ने अपना डेरा डाल दिया है। अचानक पानी के बढ़ने और मानसून के आने की सूचना से लोगों के चेहरे पर नेपाल के भूकम्प के बाद 2008 की कुसहा बाढ़ जैसी त्रासदी का अंदेशा स्वाभाविक रूप से दिखने लगा है।

सम्बंधित खबरें


सांसद पप्पू ने की मृतक बबलू के परिजन की सहायता

आये दिन जिले भर में जर्जर हो रहे बिजली तार लोगों की जान के ग्राहक बन गये हैं। विगत पाँच महीनों में छह जानें जा चुकी हैं। जर्जर तारों की वजह से होता है हादसा। चार दिन कवल गम्हरिया प्रखंड के 28 वर्षीय बबलू, पिता राजो पासी ने हाई टेंसन तार की चपेट में आकर जान गंवा दी।

युवक की मौत पर सांसद पप्पू यादव ने बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता से चार लाख रुपये अविलम्ब मुआवजा के रूप में भुगतान करने को कहा है। साथ ही सांसद ने मृतक के माता-पिता को बेटी की शादी के लिए 50 हजार रु. की राशि भी दी है।

सम्बंधित खबरें


आश्वासन के बाद बेएसा की हड़ताल खत्म

पटना में बिहार राज्य कार्यपालक सहायक सेवा संघ (बेएसा) के प्रतिनिधि मंडल से प्रधान सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग, बिहार की सफल वार्ता के बाद संघ की मधेपुरा इकाई ने 11 जून की शाम अपनी हड़ताल समाप्त कर दी। बेएसा ने वार्ता के दौरान अपनी सात सूत्री मांग रखी जिस पर प्रधान सचिव ने सकारात्मक आश्वासन दिया। इसके बाद संघ ने काम पर जाने की घोषणा की लेकिन साथ ही ये चेतावनी भी दी कि अगर तय समय सीमा में मांग पूरी नहीं की गई तो संघ उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा। उक्त निर्णयों की सूचना संघ के द्वारा मधेपुरा के प्रभारी जिला पदाधिकारी मो. अबरार अहमद को पत्र के माध्यम से दे दी गई है।

इससे पूर्व बेएसा के द्वारा लगातार चलाए जा रहे आन्दोलन के तहत मधेपुरा में कार्यपालक सहायकों ने मुँह पर काली पट्टी लगाकर प्रदर्शन किया था। उम्मीद है कि सामान्य प्रशासन विभाग के सकारात्मक आश्वासन के बाद चल रहा गतिरोध खत्म होगा और सामान्य स्थिति बहाल होगी।

सम्बंधित खबरें


मानसून से मधेपुरावासी घबराए

मधेपुरा शहर के लोगों में जहां एक ओर आगामी स्थानीय निकाय से विधान परिषद सदस्यों के चुनाव की चर्चा जोरों पर है वहीं नगर परिषद के लोगों खासकर व्यापारियों को मानसून के बादल को देखकर घबराहट हो रही है क्योंकि शहर में नाला-निर्माण को लेकर चारों तरफ बड़े-बड़े गड्ढे खोद दिए गए हैं। जहाँ-तहाँ मिट्टी का अंबार लगा है। सड़क संकीर्ण होने के कारण वाहनों का जाम लगना तो साधारण बात हो गई है। लोग ये सोचकर हलकान हैं कि यदि बरसात के मौसम में नालों का निर्माण पूरा नहीं हो सका तो शहर का जीवन नारकीय हो जाएगा। कुछ अनुभवी एवं वरिष्ठ नागरिकों का कहना है कि नाला-निर्माण में अब तक किया गया व्यय कहीं व्यर्थ ना हो जाय।

सम्बंधित खबरें


मधेपुरा कॉलेज में विचार गोष्ठी का आयोजन

रविवार 14 जून को मधेपुरा कॉलेज, मधेपुरा में स्थानीय शिव-राजेश्वरी युवा सृजन क्लब द्वारा “उच्च शिक्षा में गिरावट : कारण एवं निवारण ” विषय पर विचार गोष्ठी का आयोजन किये जाने का निश्चय किया गया है। गोष्ठी की अध्यक्षता कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. अशोक कुमार करेंगे और उद्घाटनकर्ता होंगे भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति डॉ. विनोद कुमार।

उपरोक्त जानकारी युवा सृजन क्लब के सचिव श्री हर्षवर्द्धनसिंह राठौर ने दी।

सम्बंधित खबरें


पुस्तक का लोकार्पण

मुख्यमंत्री सचिवालय में माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार को “इतिहासपुरुष शिवनंदन प्रसाद मंडल” के लेखक डॉ. भूपेन्द्र मधेपुरी ने दिनांक 11 जून 2015 को उक्त पुस्तक भेंट की जिसे माननीय मुख्यमंत्री ने लोकार्पित करते हुए कहा कि शिवनंदन बाबू जैसे क्रांतिवीर पर पुस्तक लिखकर मधेपुरीजी ने सराहनीय काम किया है। यह काम तो बहुत पहले ही होना चाहिए था। शिवनंदन बाबू आधुनिक बिहार के निर्माताओं में एक रहे हैं।

माननीय मुख्यमंत्री द्वारा व्यक्त इन उद्गारों के उपरान्त इस अवसर पर मौजूद वित्त मंत्री श्री बिजेन्द्र यादव, पथनिर्माण मंत्री श्री राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह तथा धार्मिक न्यास परिषद, बिहार के अध्यक्ष आचार्य किशोर कुणाल ने भी डॉ. मधेपुरी के प्रयास की सराहना की।

सम्बंधित खबरें