लोजपा के पाँच पूर्व महासचिव सहित 208 नेता हुए जदयू में शामिल

जदयू में परिवारवाद वंशवाद की कोई जगह नहीं होने के कारण लोजपा के 208 नेता जदयू में शामिल। अकेले हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र से 77 लोजपा नेता जदयू में शामिल हुए। पहले से बागी हो चुके प्रदेश महासचिव केशव सिंह सहित समेत लोजपा के पांच महासचिव, दो प्रकोष्ठ अध्यक्ष, अनेक जिला अध्यक्ष समेत कुल 2 से ऊपर नेताओं ने जदयू का दामन थाम लिया।

बता दें कि जदयू मुख्यालय पटना में आहूत मिलन समारोह में राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने कुल 208 सदस्यों पार्टी की सदस्यता दिलाई। जदयू की सदस्यता ग्रहण करने वाले प्रमुख नेता हैं प्रदेश महासचिव दीनानाथ क्रांति, विष्णु पासवान, रामनाथ रमन, प्रो.एजाज उस्मानी, अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष पारसनाथ गुप्ता, श्रम प्रकोष्ठ के अध्यक्ष केके कुशवाहा एवं सिकंदरा के पूर्व प्रत्याशी सुभाष पासवान।

इस मिलन समारोह में जदयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा से लेकर जदयू मीडिया सेल के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.अमरदीप सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता गण मौजूद थे। सबने यही कहा कि जदयू समाजवादी विचारधारा पर चलने वाली देश की एक मात्र पार्टी है। यदि आप में प्रतिभा है तथा दल के प्रति निष्ठा है तो मेहनत से काम करते जाइए… और जदयू में कोई भी पद पाने के लिए खुद में काबिलियत को बढ़ाते जाइए….. यही एक पार्टी है जिसमें वंशवाद के लिए कोई जगह नहीं है।

चलते-चलते यह भी कि जदयू मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जन्मदिन (1 मार्च) को हर शहर, हर गांव और पंचायत के एक-एक बूथ पर ‘विकास दिवस’ के रूप में मनाएगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने कहा कि जदयू कार्यकर्ता जुटेंगे, विकास पर चर्चा करेंगे और अपने नेता के दीर्घायु होने की कामना करेंगे।

 

सम्बंधित खबरें