भूपेन्द्र बाबू ताजिंदगी समाजवाद को जीते रहे- डाॅ.मधेपुरी

जिला मुख्यालय के भूपेन्द्र चौक पर समाजवादी चिंतक भूपेन्द्र नारायण मंडल की 118वीं जयंती प्रो.(डॉ.)भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी की अध्यक्षता में मनाई गई। 1 फरवरी (सोमवार) को घने कोहरे के बीच सवेरे 9:00 बजे कोरोना नियमों का पालन करते हुए सर्वप्रथम उनकी प्रतिमा पर डॉ.मधेपुरी, डॉ.आलोक कुमार, परमेश्वरी प्रसाद यादव, एडवोकेट सुधांशु रंजन, राहुल यादव, संजीव यादव, आनंद कुमार सहित अन्य उपस्थित बुजुर्गों ने माल्यार्पण किया। उपस्थित बच्चों अक्षय दीप, आदित्य कुमार आदि ने भी पुष्पांजलि अर्पित की।

Samajsevi-Shikshavid Dr.Bhupendra Narayan Yadav Madhepuri paying, Dr.Alok Kumar, Parmeshwari Prasad Yadav, Sudhanshu Ranjan and others at B.N.Mandal Pratima Sthal on 118th Birth Anniversary of Samajwadi Chintak Bhupendra Narayan Mandal.
Samajsevi-Shikshavid Dr.Bhupendra Narayan Yadav Madhepuri, Rahul Yadav, Dr.Alok Kumar, Parmeshwari Prasad Yadav, Sudhanshu Ranjan, Sanjeev and others at B.N.Mandal Pratima Sthal on 118th Birth Anniversary of Samajwadi Chintak Bhupendra Narayan Mandal.

उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए अध्यक्ष डॉ.भूपेन्द्र मधेपुरी ने कहा कि मनीषी भूपेन्द्र समाजवादियों के प्रेरणा स्रोत हैं। भूपेन्द्र बाबू ताजिंदगी समाजवाद को जीते रहे। वंचितों व अछूतों का दूत बनकर आए और बेकसों के संसार को जीवन भर संवारते रहे। वे बुद्ध, नानक, कबीर के व्यवहारों तथा मार्क्स एवं गांधी के संस्कारों से लैस होकर मानवता की सेवा करते रहे। सदा औरों के लिए जीते थे….. जो औरों के लिए जीता है, वह कभी नहीं मरता ! भूपेन्द्र बाबू कभी नहीं मरेंगे। वे हमारे प्रेरणा स्रोत बने रहेंगे।

मनीषी भूपेन्द्र के जन्मदिन पर प्रति वर्ष की तरह इस वर्ष भी डॉ.मधेपुरी ने प्रतिमा स्थल की देखभाल करने वाले गरीब चाय विक्रेता महेंद्र साह को कंबल दान किया। अंत में डॉ.आलोक कुमार ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

सम्बंधित खबरें