होम करने वालों के हाथ ना जलाएं बिहार की माताएं व बहनें- डॉ.मधेपुरी

जानिए कि बिहार के मतदाताओं के नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चिट्ठी आई है कि विकास के लिए नीतीश सरकार जरूरी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि विकास में कमी ना आए, विकास की योजनाएं कहीं अटके नहीं, कहीं भटके नहीं- इसलिए नीतीश सरकार की सख्त जरूरत है। सभी जानते हैं कि जिस प्रधानमंत्री ने कश्मीर में 70 वर्ष बाद धारा 370 हटाने की हिम्मत की, जिसने पाक की सरहद में घुसकर आतंकियों को मौत की नींद सुलाया, जिसने चीन को जवाब में यही कहा कि भारत एटम बम दीपावली में पटाखा छोड़ने के लिए नहीं बनाया है और जिसने सभी समुदायों की माताएं व बहनों को एलपीजी गैस सिलेंडर मुहैया कराया है, उन्होंने ही यह पत्र आपको लिखा है। यह पत्र उस नीतीश सरकार के बारे में है जिन्होंने महिलाओं को 50% सीटें पंचायतीराज व नगरनिकायों में तथा 35% सीटें सरकारी नौकरियों में आरक्षित कर समाज को मजबूती प्रदान किया है।

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण का रण सज गया है और चुनाव प्रचार भी थम गया है। कल 7 नवंबर को 7:00 बजे प्रातः से 6:00 बजे संध्या तक सभी दलों के प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में बंद हो जाएगी। इस अंतिम चरण में विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी एवं एक दर्जन मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर है। जिसमें बिहार को 24 घंटे बिजली देने वाले व बिहार सरकार की रीढ़ माने जाने वाले मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, नरेंद्र नारायण यादव एवं डॉ.रमेश ऋषिदेव सरीखे जदयू के आठ वरिष्ठ मंत्री एवं भाजपा के चार मंत्रीगण शामिल हैं।

जानिए कि प्रथम चरण में 71 सीटों के लिए 55.69% वोट पड़े थे, दूसरे चरण में 94 सीटों के लिए 55.70% वोट हुए, जिसमें बिहार की माता व बहनों ने पुरुष मतदाताओं को पछाड़ते हुए 6% अधिक मतदान किया। ये माताएं व बहनें मोदी-नीतीश सरकार के होम करने वाले हाथों को थामने का काम किया है।

यह भी जानिए कि जदयू के वरिष्ठ नेता व नीतीश कुमार के प्रबल समर्थक डॉ.भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी ने तीसरे चरण के शेष 78 सीटों के मतदान के लिए बिहार की  माताओं व बहनों से विशेष रूप से अनुरोध किया है कि होम करने वाले नीतीश-मोदी के हाथों को किसी तरह की असावधानी व चूक  करके ना जलाएं बल्कि इस तीसरे चरण में वे पुरुष मतदाता से 10% अधिक मतदान करके नीतीश सरकार बनाने में अपनी अहम भूमिका निभाएं ताकि आगे आने वाले विधानसभा व लोकसभा चुनाव में महिलाओं को 35% सीटें आरक्षित करने हेतु सीएम नीतीश कुमार आपकी वकालत पूरी ताकत के साथ कर सके।

सम्बंधित खबरें