23 अक्टूबर को पीएम-सीएम की पहली रैली भागलपुर में, कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से होगा पालन

भागलपुर में 23 अक्टूबर को पीएम नरेंद्र मोदी एवं सीएम नीतीश कुमार की पहली रैली में शामिल होने वाले नेताओं का कोरोना टेस्ट होगा। कोरोना निगेटिव आने पर ही मंच पर जा सकेंगे मंत्री या कोई वरिष्ठ नेता और उन्हें पीएम और सीएम के साथ मंच पर बैठने का मिलेगा मौका।

बता दें कि राज्य के प्रधान सचिव ने निर्देश जारी किया है कि रैली स्थल वीवीआईपी एरिया में तैनात सभी पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों-कर्मचारियों एवं पीएम-सीएम संग मंच साझा करने वाले लोगों को दो बार कोरोना संक्रमण जांच से गुजरना होगा। प्रत्यय अमृत ने संबंधित सिविल सर्जनों को पत्र द्वारा सूचित किया है कि मंच पर बैठने वालों का 22 अक्टूबर को आरटी-पीसीआर मशीन से कोरोना जांच होना आवश्यक है। निर्देश यह भी जारी किया गया कि रैली के दिन इस वीआईपी एरिया में प्रवेश करने से पहले रैपिड टेस्ट किट से जांच कराई जाए ताकि एरिया में कोई भी कोरोना संक्रमित व्यक्ति प्रवेश नहीं कर पाए।

चलते-चलते यह भी कि वीवीआईपी जोन में शामिल होने वाले हर वाहन को सैनिटाइज कराया जाए और रैली में शामिल होने वाले हर व्यक्ति को प्रवेश द्वार पर हैंड सैनिटाइज कराया जाएगा। साथ ही यह भी कि बिना मास्क का रैली में किसी को भी प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। वीवीआईपी जोन के नजदीक मंच व रिसेप्शन लाइन में आने वाले हर व्यक्ति के लिए मास्क अनिवार्य होगा। यहां तक कि मंच निर्माण में लगे मजदूरों की भी जांच कराने के निर्देश जारी किए गए हैं।

सम्बंधित खबरें