जेएनकेटी से होगा कोसी का कायाकल्प, मधेपुरा बनेगा मेडिकल हब- सीएम

जननायक कर्पूरी ठाकुर राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल का शिलान्यास 6 जून 2013 को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 25 एकड़ के भूखंड पर बीएन मंडल विश्वविद्यालय के नार्थ कैंपस में किया था। लगभग 7 वर्षों में 781 करोड़ की लागत से बने 500 बेड के सुपर स्पेशलिटी वाले मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 7 मार्च 2020 (शनिवार) को 2:00 बजे अपराहन में किया। सीएम ने कहा कि कोसी व सीमांचल के लगभग दो करोड़ लोगों को इससे लाभ मिलेगा। सीएम ने कहा कि मधेपुरा से उन्हें विशेष लगाव है और भोलेनाथ के प्रति असीम श्रद्धा भी है। यहां वर्षों से आता-जाता रहा हूँ।

इस मौके पर बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने उपस्थित जनसमूह से कहा कि इस मेडिकल कॉलेज को विश्वस्तरीय मॉडल के रूप में तैयार किया गया है। उन्होंने कहा कि सीएम द्वारा उद्घाटन के साथ ही अस्पताल में मरीजों के लिए सारी सुविधाएं उपलब्ध करा दी गई है। यहां तक कि मरीजों के लिए किडनी के डायलिसिस की सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है। लोकार्पण के साथ ही ऑपरेशन भी शुरू हो गया।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि एमसीआई की टीम के निरीक्षणोपरांत स्वीकृति मिलने के बाद ही अप्रैल में 100 छात्र-छात्राओं का नामांकन 2020-21 के सत्र में लिया जाएगा। आरंभ में एक-एक पौधा एवं शॉल देकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव, विधि मंत्री नरेंद्र यादव, एससी-एसटी मंत्री डॉ.रमेश ऋषिदेव, सांसद-विधायकों आदि का स्वागत किया गया एवं सभी ने अपने संबोधन में इस बड़े अस्पताल की सराहना की।

मौके पर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने अस्पताल की विशेषताओं की विस्तार से चर्चा की और कहा कि मेडिकल कॉलेज के सभी विभागाध्यक्षों को तीन-तीन लाख रुपये तक की राशि सीधे खर्च करने तक का अधिकार दिया गया है ताकि उन्हें अपने विभाग को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने में किसी तरह की परेशानी ना हो। अंत में प्राचार्य डॉ.अशोक कुमार यादव ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

चलते-चलते यह भी बता दें कि डीएम नवदीप शुक्ला एवं एसपी संजय कुमार ने सीएम की सुरक्षा के लिए कई लेयरों में सुरक्षा व्यवस्था की थी जिसकी निगरानी एसडीएम वृंदालाल एवं एसडीपीओ वसी अहमद को सौंपी गई थी।

सम्बंधित खबरें